सर्वे में सामने आया सोशल मीडिया पर हिंदी अंग्रेजी से आगे

सोशल मीडिया पर हिंदी के उपयोगकर्ता बड़े पैमाने पर बढे

0
224
स्टोरीनोमिक्स के अजय शर्मा

अभी स्टोरीनोमिक्स नामक एक कंसल्टेंसी फर्म का सर्वेक्षण सामने आया है जिसमें आंकड़ों के आधार पर यह बताया गया है कि इंटरनेट की बढती पहुँच और राष्ट्रवाद के उभार के कारण सोशल मीडिया पर हिंदी के उपयोगकर्ता बढे हैं, हिंदी की ख़बरें अधिक साझा होने लगी हैं. अगर यही ट्रेंड रहा तो साल 2017 में हिंदी सोशल मीडिया पर अंग्रेजी से निर्णायक रूप से आगे निकल जाएगी- मॉडरेटर

=================स्टोरीनोमिक्स  की  ओर  से  किए  गए  एक  अध्ययन  से  खुलासा  हुआ  है कि  पिछले  छह  महीनों  के दौरान  सोशल  मीडिया  पर अग्रेजी  में  शेयर  की  गई  खबरों  की  तुलना  में  हिन्दी  में  अधिक  ख़बरें शेयर  की  गई।  इस  अध्ययन  का विषय  है ‘‘2016  में  भारत  में  सर्वाधिक  षेयर  की  जाने  वाली 5000  खबरें।’’

स्टोरीनोमिक्स परामर्श फर्म है जिसे परम्परागत एवं डिजिटल मीडिया में बिजनेस की खबरों में विषेशज्ञता हासिल है। इसने सोशल मीडिया पर दस भाषाओं – अंग्रेजी, हिंदी, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, मलयालम, मराठी, पंजाबी, तमिल और  तेलुगू में 135  प्रमुख  भारत मीडिया  द्वारा शेयर की जाने वाली 870,000 खबरों का विश्लेषण किया है।

भारतीय मीडिया ने 2016  में फेसबुक, ट्विटर और लिंकडिन  पर 2.25 अरब पोस्ट शेयर किए और प्रति खबर के हिसाब से 2,587 शेयर हुए। हालांकि  इन खबरों में से सबसे ज्यादा शेयर की जाने वाली  5000  खबरों ने उल्लेखनीय रूप से अधिक लोगों का  ध्यान खींचा और औसतन प्रति खबर 71,494 शेयर हुए और कुल 35 करोड़ 70 लाख  शेयर हुए। विभिन्न भाषाओं में सभी शेयर के 98 प्रतिशत से अधिक शेयर फेसबुक के  जरिए हुए।

स्टोरीनोमिक्स  के  संस्थापक  एवं  सीईओ  अजय शर्मा  कहते  हैं,  ‘‘हमने  विभिन्न  लोगों  को  संलग्न रखने वाले कारकों को  समझने के लिए सबसे अधिक शेयर की जाने वाली 5000  खबरों के  सोशल ट्रैजेक्टरी पर नजर रखी। हालांकि अंग्रेजी ने 2016  में अपना वर्चस्व बनाए रखा लेकिन वर्ष 2017 में हिन्दी अपनी बढ़त बनाने की ओर  अग्रसर है और इसका कारण इंटरनेट की अधिक पहुंच तथा राष्ट्रवाद का  एक मजबूत उभार है।’’

श्री  शर्मा  ने  कहा,  ‘‘भारतीय  भाषाओं  के  पाठकों  के  बीच  वेब  पर सामग्रियां  ढूंढने  के प्रति उतावलापन है। स्मार्टफोनों तथा  मोबाइल  इंटरनेट के उपयोग  में विस्फोटक तेजी  आने के कारण इन  पाठकों  के  लिए  सामग्रियों  का  एक  मात्र  माध्यम  खबरें  हैं। इसलिए  हिन्दी  एवं  अन्य  भारतीय भाषाओं में खबरों की बढ़ती लोकप्रियता को लेकर किया गया अध्ययन इंटरनेट उपयोगकर्ताओं के आधार के  बदलते मिजाज को  मापने का एक महत्वपूर्ण पैमाना हो सकता है।’’

इस अध्ययन के दौरान हिन्दी एवं अंग्रेजी भाषाओं के पाठकों के बीच खबरों की वरीयता में खास अंतर देखा गया। हिन्दी के पाठक राष्ट्रवादी, धार्मिक और राजनीतिक विषयों की खबरों को शेयर करने को प्राथमिकता देते हैं जबकि अंग्रेजी के पाठक मनोरंजन, मानव हितों और उपभोक्ता केंद्रित खबरों के शेयर को महत्व देते हैं। 2016  में  शेयर  किए  गए  राष्ट्रवादी  विषयों  में  भारतीय  ध्वज,  राष्ट्रीय  गान,  सारे  जहां  से  अच्छा, भारतीय  सेना  द्वारा  सर्जिकल  स्ट्राइक,  उड़ी  में आतंकवादी  हमला,  चीनी  उत्पादों  का  बहिष्कार, पाकिस्तानी कलाकारों पर प्रतिबंध से जुड़ी खबरें शामिल हैं। राष्ट्रवादी  विषयों  ने  यहां  तक कि  जीएसटी  विधेयक,  कश्मीर  में  गड़बडी,  सूखा,  आर्थिक  मुद्दों  और यहां तक कि विमुद्रीकरण  जैसे महत्वपूर्ण  मुद्दों  से जुड़ी  खबरों को भी पीछे छोड़ दिया। महत्वपूर्ण विषयों पर 32 खबरें थी और विमुद्रीकरण पर 372 खबरें थीं जबकि राष्ट्रवादी विशयों पर 693 खबरें थीं।

एटीएम के सामने लगी लंबी कतारों तथा लोगों की अन्य चुनौतियों के बावजूद पाठकों ने सोशल मीडिया के जरिए आतंकवाद और नकली नोटों तथा काला धन पर पड़ने वाले विमुद्रीकरण के संभावित  सकारात्मक  असर  से  संबंधित  खबरों  को  शेयर  करना  अधिक  पसंद  किया।  विमुद्रीकरण पर  कुल  372  खबरों  में  से  केवल  71  खबरें  लोगों  की  समस्याओं  या  विमुद्रीकरण  का  विपक्ष  द्वारा किए जाने वाले विरोध  को लेकर थीं। इस अध्ययन के लिए आंकड़े सामग्रियों का  अन्वेशण  करने वाले प्रमुख वैश्विक मंच www.buzzsumo.com से लिए गए।

===========================

स्टोरीनोमिक्स एवं श्री अजय शर्मा के  बारे में:

स्टोरीनोमिक्स व्यवसायिक कंपनियों को उनके बारे में कथ्य तैयार करने में मदद करती है  ओर उन कथ्यों  को  तेजी  से बदल  रहे  परम्परागत  एवं  नए  मीडिया  के  लिए प्रासंगिक  विभिन्न  माध्यमों  के जरिए जीवंतता प्रदान करती है। स्टोरीनोमिक्स विभिन्न उद्योग क्षेत्रों के लिए कथ्य परामर्श एवं कोचिंग  कार्यषालाओं  का  आयोजन करती  है।     स्टोरीनोमिक्स  के  कार्य  स्वरूप  एवं  शैलियां व्यावसायिक कंपनियों के लिए उपयुक्त हैं, भले ही उन कंपनियों का पैमाना एवं प्रबंधन शैली कुछ भी    हो।

स्टोरीनोमिक्सटीएम  के  संस्थापक  और  सीईओ  अजय शर्मा  ने  पिछले  20  वर्षों  में  अपने  जनसम्पर्क कार्यक्रमों से 150 से अधिक भारतीय और बहुराष्ट्रीय कंपनियों को सलाह दी है। इनमें आईटीसी लिमिटेड, ड्यूपॉन्ट, टाटा टेलीसर्विसेज, यूटीआई म्युचुअल फंड, टाटा म्युचुअल फंड, एबीबी, माइलस्टोन कैपिटल, ईएमए पार्टनर्स, एस्सार स्टील, आदित्य बिड़ला फाइनेंशियल सर्विसेज ग्रूप, कोटक महिंद्रा ग्रुप (अब कोटक बैंक), आदित्य बिड़ला फाइनेंशियल सर्विसेज ग्रुप, अंबुजा  सीमेंट,  कलर प्लस,  लाफार्ज,  गिनीज  यूडीवी  (डियाजियो),  भारती  एयरटेल,  ग्लोडाइन, मणिपाल क्योर एंड केयर, इकरा, एएमएफआई, आईएमआई मोबाइल और अबराज कैपिटल जैसी कंपनियां शामिल हैं।

श्री अजय शर्मा अमेजन पर बिकने वाले बेस्टसेलर ‘‘हार्सेज कैन फ्लाई –  फायर अप योर पीआर स्ट्रैटेजी फॉर डिसरप्टिल मार्केट्स’’ के लेखक हैं।

श्री   अजय  शर्मा   को   पब्लिक   रिलेशन्स   काउंसिल   ऑफ़   इंडिया द्वारा हॉल ऑफ फेम से सम्मानित किया गया है।

मीडिया के सवालों के लिए, कृपया संपर्क करें:

इम्तियाज आलम: +91 98102  27818, imtiaz@zimisha.com

संतोष कुमार : +919990937676, santosh@zimisha.com

कशिश पोपली : +918376848592, info@zimisha.com

अनुश्री सिन्हा : +919599840520, info@zimisha.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here