Recent Posts

सदी का सबसे क्रूर क़ातिल- रवित यादव की कविताएँ

दिल्ली विश्वविद्यालय के लॉ फ़ैकल्टी के छात्र रवित यादव की कविताएँ पढ़िए। आज के समय में बहुत प्रासंगिक हैं- ======================================   1- सदी का सबसे क्रूर क़ातिल ———————- झकझोरती हैं जब कानों पर पड़ती चीखें   जब थमती सांसो के साथ जीने की आस थरथराती है   जब टटोलते हो …

Read More »

अनामा माँ के भीतर एक गुमशुदा स्त्री की तलाश

आज मदर्स डे पर प्रसिद्ध लेखिका गीताश्री का लेख पढ़िए। पढ़ते पढ़ते अपनी माँ से मिलने का मन होने लगा- ============================== मां, मेरी माय -गीताश्री जन्म लेने के लिए एक स्त्री की कोख ढूंढता है ईश्वर “अंतरिक्ष के आखिरी छोर पर खड़ी एक स्त्री पक्षियों को पंख / पेट को …

Read More »

यशपाल और प्रकाशवती -अद्भुत सच्ची प्रेम कथा

पढ़ने लिखने वाला आदमी पढ़े लिखे नहीं तो क्या करे? यतीश कुमार इन दिनों किताबें पढ़ रहे हैं और उसके ऊपर लिख रहे हैं। यशपाल की किताब ‘सिंहावलोकन’ पढ़कर उन्होंने यह सुंदर प्रसंग लिखा है – ================================ हरिवंशराय बच्चन की आत्मकथा में यशपाल और प्रकाशवती  के प्रेम का ज़िक्र था। …

Read More »