Breaking News
Home / ब्लॉग / पटना लिटरेचर फेस्टिवल आज से शुरु

पटना लिटरेचर फेस्टिवल आज से शुरु


आज से पटना लिटरेचर फेस्टिवल शुरु हो रहा है. ऐतिहासिक शहर में एक ऐतिहासिक आयोजन. दो दिनों तक चलने वाले इस आयोजन की रुपरेखा नीचे दी जा रही है- जानकी पुल.
======================================


23 मार्च 2013 (शनिवार), तारामंडल ऑडिटोरियम
सत्र 1: सुबह 9.30 से 10.30 बजे 
भाषासाहित्य और संस्कृतिउभरते भारत में पहचान की तलाश 
आलोक रायज्ञान प्रकाशइम्तियाज अहमद, पवन के. वर्मा, डेजी नारायण  से  ओम थानवी की बातचीत
सत्र 2: सुबह 10.30 से 11 बजे 
कायनात-ए-नज्म (काव्य पाठ )
कलीम अजीज, फहमीदा रियाज, फरहत शहजाद
सत्र : सुबह 11 से 11.30 बजे 
उद्घाटन कार्यक्रम 
सत्र 3: दोपहर 11.30 से 12.15 बजे 
बिटवीन दी वर्ड्स: युधिष्ठिर एंड द्रौपदी 
गुलजार और पवन के. वर्मा की बातचीत
सत्र 4: दोपहर 12.15 से 1 बजे 
किस्सा की परंपरा कहानी का शिल्प
असगर वजाहतउषा किरण खाननिलय उपाध्याय से प्रभात रंजन की बातचीत
दोपहर 1 से 2 तक विराम
सत्र 5: दोपहर 2 से 3 बजे 
रीडिंग यंग इंडियाः इमर्जिंग रीडरशिप
बिमन नाथअरूणा गिलअनुजा चैहान और रक्षांदा जलिल की बातचीत
सत्र 6: दोपहर 3 से 3.30 बजे 
बोली खड़ी बाजार में
अरुणेश नीरन और उदय नारायण सिंह से सत्यानंद निरुपम की बातचीत
सत्र 7: दोपहर 3.30 से शाम 4.30 बजे 
हिंदी का लोक-मिजाज: सिनेमा आज-कल
डा चंद्रप्रकाश द्विवेदी, संजय चौहान, सुभाष कपूर विनोद अनुपम से
अजय ब्रम्हात्मज की बातचीत
सत्र 8: शाम 4.30 से 5 बजे 
इतिहासस्मृति और आख्यान 
ज्ञान प्रकाश और आलोक राय की बातचीत
सत्र 9: शाम 5 से 5.30 बजे 
महफिल गायिकीः पूरब देस (रचना पाठ)
गजेंद्र नारायण सिंह, प्रभात रंजन, कुमुद झा दीवान. परिचय: डा अजीत प्रधान
वर्कशॉप : दोपहर 1 से 2 बजे 
ग्रोइंग अप इन ए वोइलेंट वर्ल्ड: वर्कशॉप फॉर यंग अडल्ट्स
सुभद्रा सेनगुप्ता के साथ दोस्ताना बातचीत
24 मार्च 2013 (रविवार) तारामंडल ऑडिटोरियम
सत्र 10: सुबह 9.30 से 10.30 बजे 
अन्य का लेखन: यथार्थ का स्वरूप
रूपरेखा वर्मा, असगर वजाहत, मनोरंजन ब्यापारी  से बजरंग बिहारी तिवारी की बातचीत
सत्र 11: सुबह 10.30 से 11 बजे 
उर्दू की गमक: गंगा-जमुनी अदब
वसिम बरेलवी और शकील शम्सी की बातचीत
सत्र 12: सुबह 11 से 11.30 बजे 
लाइट ऑफ कांशियसनेस: रिडिस्क्वरिंग बुद्धा 
बिनॉय के. बहलचारू कार्तिकेय की बातचीत
परिचय: सुजाता चटर्जी
सत्र 13: सुबह 11.30 से 12.15 बजे 
कथा-सरित (कहानी पाठ)
ह्रषिकेश सुलभ नासिरा शर्मा और मिथिलेश्वर. परिचय: प्रभात रंजन
सत्र 14: दोपहर 12.15 से 1 बजे 
उर्दू है नाम जिसकाजुबान का मुस्तकबिल
फहमिदा रियाजअब्दुस समद, फरहत शहजाद से सुबोध लाल की बातचीत
दोपहर 1 से 2 तक विराम
सत्र 15: दोपहर 2 से 3 बजे 
याद कनेक्शन: गांव वाया शहर
नीलेश मिश्रा
सत्र 16: दोपहर 3 से 4 बजे 
क्या हम दकियानूस हो रहे हैं?
त्रिपुरारी शरण, अंतरा देव सेन, डॉ. शैबल गुप्ता  से अपूर्वानंद की बातचीत
सत्र 17: शाम 4 से 5 बजे 
भाषा-बसंत (काव्य पाठ )
उदयनारायण सिंह, अरुण कमल, कासिम खुर्शीद, आलोक धन्वा और निलय उपाध्याय
सांस्कृतिक कार्यक्रम : 22 से 24 मार्च 2013
मार्च 22 – शाम 6.30 से 7 बजे तक
      इब्तिदा: काव्य पाठ, फरहत शहजाद
      तारामंडल ऑडिटोरियम
      शाम 7 से 8 बजे तक
      उत्सव: चैती, कजरी, ठुमरी, कुमुद झा दीवान
तारामंडल ऑडिटोरियम
मार्च 23 – शाम 6.30
      सांस्कृतिक संध्या
      प्रेमचंद रंगशाला
मार्च 24 – शाम 6.30
      सांस्कृतिक संध्या
      प्रेमचंद रंगशाला
      शाम 7.30
      संवाद: कथक प्रस्तुति, स्वाति शुक्ला
      प्रेमचंद रंगशाला

  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  
  •  

About Prabhat Ranjan

Check Also

तन्हाई का अंधा शिगाफ़ : भाग-10 अंतिम

आप पढ़ रहे हैं तन्हाई का अंधा शिगाफ़। मीना कुमारी की ज़िंदगी, काम और हादसात …

One comment

  1. प्रभावशाली ,
    जारी रहें।

    शुभकामना !!!

    आर्यावर्त

    आर्यावर्त में समाचार और आलेख प्रकाशन के लिए सीधे संपादक को editor.aaryaavart@gmail.com पर मेल करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.