Home / Uncategorized / नीलिम कुमार की कविताएँ

नीलिम कुमार की कविताएँ

नीलिम कुमार की ये कविताएँ उनके कविता संग्रह ‘एक खाली घर घुस आया मेरे भीतर’ से ली गई हैं. संग्रह प्रकाशित हुआ है धौली बुक्स प्रकाशन से. धौली बुक्स भुवनेश्वर केन्द्रित प्रकाशन गृह है. यहाँ से हिंदी, अंग्रेजी और ओडिया में श्रेष्ठ साहित्यिक पुस्तकों का प्रकाशन हुआ है. इस प्रकाशन की एक पुस्तक ‘कास्ट आउट’ को अमेज़न.इन ने साल की यादगार किताब के रूप में चयनित किया है-मॉडरेटर
===========
1.
बटन
बटन खो गया
क्या आपके हाथ में है
वह बटन?
 
आपने कहा था
खो जाने पर भी
आप मुझे खोज निकालेंगी.
 
मेरा बटन है क्या
आपके हाथ में?
दीजिये, सी दीजिये
मेरी कमीज़ पर
वह पौपीनुमा तारा
 
२.
दूसरा दृश्य
 
एक बच्चे की लाश
नदी में
बहती जा रही है
उस पर
बैठा है
एक कौवा
कौवा लाश को
चोंच से
चुभा नहीं रहा
बस
चुपचाप
ठहरी आँखों से
सांत्वना दे रहा है.
 
3.
मेनोपॉज
 
पुरानी सहेली ने
मुझे फोन किया है
उसके सीने की धक-धक
मेरे कानों में
फ़ैल रही है
मैंने पूछा
क्या बीमारी है?
उसने कहा
अनजानी बीमारी
बस हर पल
तकिये पर
गुस्सा करती रहती हूँ.
 
4.
किराया घर
 
मेरे एक कमरे में बैठ
वह पढ़ाई करता है
दूसरे में भोजन करता है
एक में गाना गाता है
और एक में सो जाता है
 
मेरे ह्रदय के चारो कमरे
किराए पर ले रखे हैं उसने
वह दूसरा कोई और नहीं
दुःख है!
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  
  •  

About Prabhat Ranjan

Check Also

मैं अब कौवा नहीं, मेरा नाम अब कोयल है!

युवा लेखिका अनुकृति उपाध्याय उन चंद समकालीन लेखकों में हैं जिनकी रचनाओं में पशु, पक्षी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.