Home / Featured / लोकप्रिय लेखन सम्राट सुरेन्द्र मोहन पाठक अब पेंग्विन रैंडम हाउस इण्डिया से

लोकप्रिय लेखन सम्राट सुरेन्द्र मोहन पाठक अब पेंग्विन रैंडम हाउस इण्डिया से

हिंदी लोकप्रिय लेखन सम्राट सुरेन्द्र मोहन पाठक के प्रसिद्ध विमल सीरीज की आगामी दो किताबें अब हिंद पॉकेट बुक्स से प्रकाशित होंगी. जैसा कि विदित हो पेंग्विन-रैंडम हाउस ने हिंदी के सबसे प्रतिष्ठित प्रकाशकों में एक हिन्द पॉकेट बुक्स का हाल में ही अधिग्रहण कर लिया है और उसके बाद की शुरूआती घोषणाओं में यह घोषणा है कि पाठक जी कि आगामी दो किताबें जनवरी माह में हिन्द पॉकेट बुक्स से प्रकाशित होंगी.

पाठक जी की अब तक 300 से अधिक किताबें प्रकाशित हो चुकी हैं. उनका लेखन कैरियर साठ साल तक फैला हुआ है. इन साथ सालों के दौरान हिंदी रहस्य-रोमांच कथा धारा को शिखर तक ले जाने वाले पाठक जी अपनी विधा के निर्विवाद रूप से बेताज बादशाह हैं. इस मौके पर अपने सन्देश में सुरेन्द्र मोहन पाठक ने कहा, ‘प्रतिष्ठित हिन्द पॉकेट बुक्स के पेंग्विन रैंडम हाउस से जुड़ने पर मैं अपनी विमल श्रृंखला के अगले दो उपन्यासों के इस नए बैनर तले प्रकाशित होने को लेकर बेहद उत्साहित हूँ. हिंद पॉकेट बुक्स द्वारा स्थापित ऊंचे मानकों को इस नए गठबंधन के बाद नई बुलंदी हासिल होगी और हिंदी साहित्य को भी आगे बढाने में मदद मिलेगी.’

सुरेंद्र मोहन पाठक के पेंग्विन-रैंडम हाउस समूह से जुड़ने की घटना से उत्साहित होकर हिन्द पॉकेट बुक्स की एडिटर इन चीफ वैशाली माथुर ने कहा, ‘मैं पाठकजी की कृतियों को पसंद करती हूँ और उनकी अगली पुस्तकों के प्रकाशन के लिए उनके साथ काम करने को लेकर उत्साहित हूँ. पिछले कुछ वर्षों में, उन्होंने पल्प फिक्शन विधा को अपने लेखन से तरोताज़ा बनाया है और मुझे पूरा भरोसा है कि देश भर के पाठकों को अब उनके नए थ्रिलर का इन्तजार होगा.’

पेंग्विन रैंडम हाउस के लिए भारतीय भाषा कार्यक्रम को नेतृत्व प्रदान करने वाले नंदन झा ने कहा, ‘देश में स्थानीय भाषा के प्रकाशन को मजबूत एवं गतिशील बनाए रखने की अपनी वचनबद्धता के चलते हिन्द पॉकेट बुक्स में हम श्री सुरेन्द्र मोहन पाठक सरीखे उर्वर लेखक के साथ क्राइम फिक्शन के क्षेत्र में कदम रखते हुए उत्साहित हैं. बेशक, इस विधा के लिए पहले से कई प्लेटफ़ॉर्म और फोर्मेट उपलब्ध हैं लेकिन हिंदी पल्प फिक्शन लेखक को आम जनता काफी समय से पसंद करती आई है और हम इस रुझान को आगे भी जारी रखेंगे.’

  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  
  •  

About Prabhat Ranjan

Check Also

जासूसीपन, थ्रिलरपन और रहस्यपन का रोचक कथानक ‘नैना’

संजीव पालीवाल के उपन्यास ‘नैना’ पर टिप्प्पणी जानी-मानी लेखिका नीलिमा चौहान ने लिखी है। एक …

Leave a Reply

Your email address will not be published.