Home / Featured / ‘बनारसी प्रसाद भोजपुरी सम्मान’ की घोषणा

‘बनारसी प्रसाद भोजपुरी सम्मान’ की घोषणा

बिहार के प्रतिष्ठित ‘बनारसी प्रसाद भोजपुरी सम्मान’ की घोषणा हो गई है। यह सम्मान एक ज़माने में बिहार में समकालीन रचनाशीलता का प्रतिष्ठित पुरस्कार था। कभी मेरे प्रिय लेखकों आलोक धन्वा और सुलभ जी को भी मिल चुका है। इस बार भी कुछ प्रिय लेखों को मिला है- मॉडरेटर

======================

प्रेस विज्ञप्ति

 

 

आरा/3 जून, 2019

हिन्दी साहित्य का प्रतिष्ठित ‘बनारसी प्रसाद भोजपुरी सम्मान’ वर्ष 2012 के लिए हिन्दी कविता की प्रमुख हस्ताक्षर अनामिका को, 2013 के लिए प्रसिद्ध कथाकार रणेन्द्र को, 2014 के लिए प्रमुख कवि रंजीत वर्मा को, 2015 के लिए प्रमुख कथाकार गीताश्री को, 2016 के लिए प्रसिद्ध कवि संजय कुंदन को एवं 2017 के लिए हिन्दी कहानी के प्रमुख हस्ताक्षर पंकज मित्र को दिया गया है। विदित है कि वर्ष 2012 से ही यह सम्मान चयन कतिपय कारणों से रूका पड़ा था जिसे वर्ष 2019 में वर्ष 2012 के प्रभाव से ही शुरू किया गया है।

इस सम्मान के चयन के लिए निर्णायक मण्डल के सदस्य थे- वरिष्ठ आलोचक डाॅ० खगेन्द्र ठाकुर, डाॅ० रविभूषण, वरिष्ठ कथाकार संजीव एवं कवि मदन कश्यप। यह सम्मान 28 जून 2019 को साहित्य अकादमी, दिल्ली के सभागार में प्रदान किया जाएगा। इस कार्यक्रम के विषिष्ट अतिथि होंगे प्रसिद्ध आलोचक डॉ. मैनेजर पाण्डेय, डाॅ० रविभूषण एवं डाॅ० गोपेश्वर सिंह। कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ आलोचक डॉ. विश्वनाथ त्रिपाठी द्वारा की जाएगी।

यह सम्मान योजना आरा निवासी प्रेमचंदकालीन साहित्यकार बनारसी प्रसाद भोजपुरी की स्मृति में वर्ष 1989 से शुरू की गई है जिसका उद्देश्य बिहार की संभावनाशील तथा महत्वपूर्ण रचनाशीलता को सम्मानित करना है। इसके अंतर्गत प्रतिवर्ष कविता या कहानी की किसी एक विधा में उल्लेखनीय योगदान के लिए किसी एक रचनाकार को ‘बनारसी प्रसाद भोजपुरी सम्मान’ से सम्मानित किया जाता है जिसमें सम्मान-पत्र के अतिरिक्त पाँच हजार एक रूपये की राशि एवं प्रतीक चिह्न शामिल है।

अबतक यह सम्मान वर्ष 1989 में पत्रकारिता के क्षेत्र में अनिल चमड़िया तथा वेद प्रकाश वाजपेयी को संयुक्त रूप से, 1990 में कहानी में विजेन्द्र अनिल को, 1991 में कविता में आलोकधन्वा, 1992 में उपन्यास लेखन के लिए मनमोहन पाठक, 1993 में कहानी में सुरेश कांटक, 1994 में कविता के क्षेत्र में मदन कश्यप, 1995 में कहानी में चन्द्रकिशोर जायसवाल, 1996 में कविता में ज्ञानेन्द्रपति, 1997 में कहानी में अवधेश प्रीत, 1998 में कविता में विमल कुमार, 1999 में कहानी में हेमन्त, 2000 में कविता में बद्रीनारायण, 2001 में कहानी में ह्रषीकेश सुलभ, 2002 में कविता में निलय उपाध्याय, 2003 में कहानी में शैवाल, 2004 में कविता में निर्मला पुतुल, 2005 में कहानी में देवेन्द्र सिंह, 2006 में कविता में अनीता वर्मा, 2007 में कहानी में जयनंदन, 2008 में हिन्दी गीत में नचिकेता, 2009 में कविता में सुरेन्द्र स्निग्ध, 2010 में कहानी में रामधारी सिंह दिवाकर तथा 2011 में कहानी में ही संतोष दीक्षित को प्रदान किया जा चुका है।

इस अवसर पर बनारसी प्रसाद भोजपुरी रचनावली का लोकार्पण भी किया जाएगा।

 

(अरविन्द कुमार)

संयोजक

बनारसी प्रसाद भोजपुरी सम्मान

 
      

About Prabhat Ranjan

Check Also

‘आउशवित्ज़: एक प्रेम कथा’ पर अवधेश प्रीत की टिप्पणी

‘देह ही देश’ जैसी चर्चित किताब की लेखिका गरिमा श्रीवास्तव का पहला उपन्यास प्रकाशित हुआ …

6 comments

  1. Hey I know this is off topic but I was wondering if you knew of any widgets I could add to my
    blog that automatically tweet my newest twitter
    updates. I’ve been looking for a plug-in like this for quite some
    time and was hoping maybe you would have some experience with
    something like this. Please let me know if you run into anything.
    I truly enjoy reading your blog and I look forward to your new updates.

  2. It’s perfect time to make some plans for the future and it’s time to be happy.
    I have read this post and if I could I desire to suggest you some interesting things or advice.
    Perhaps you could write next articles referring
    to this article. I desire to read more things about it!

  3. Very quickly this web site will be famous amid
    all blog people, due to it’s fastidious articles

  4. Hello there! This is my first visit to your
    blog! We are a group of volunteers and starting a new
    initiative in a community in the same niche. Your blog provided us valuable
    information to work on. You have done a outstanding job!

  5. Today, while I was at work, my sister stole my apple ipad and tested to see
    if it can survive a twenty five foot drop, just so she can be a youtube sensation. My iPad is now broken and
    she has 83 views. I know this is totally off topic but I had to share
    it with someone!

  6. Link exchange is nothing else but it is just placing the
    other person’s website link on your page at proper place and other person will also do same in support of you.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *