Home / Prabhat Ranjan (page 10)

Prabhat Ranjan

  कमला दास की कहानी ‘हिरासत’

आज मलयालम की प्रसिद्ध लेखिका कमला दास की पुण्यतिथि है। 31 तारीख़ का उनके जीवन में अजब संयोग था। 31 मार्च 1934 को उनका जन्म हुआ और 31 मई 2009 को अपने पीछे विपुल साहित्य और असंख्य विवादों को छोड़कर दुनिया से कूच कर गई। उनकी इस मार्मिक कहानी का …

Read More »

अगत्य की उदासी

प्रियंका ओम युवा लेखिकाओं में जाना पहचाना नाम है। इस बार उन्होंने एक बाल कहानी लिखी है। एकल परिवार के बच्चे के अकेलेपन को लेकर। पढ़िएगा- मॉडरेटर ================================= लंच ब्रेक में जब वो दोनो क्लास रूम में अकेले थे तब लड़की ने नाम पूछ कर बात शुरू की। तुम्हारा नाम …

Read More »

पूनम दुबे के उपन्यास ‘चिड़िया उड़’ का एक अंश

युवा लेखिका पूनम दुबे का पहला उपन्यास आया है ‘चिड़िया उड़’। जानकी पुल पर उनके यात्रा वृत्तांत प्रकाशित होते रहे हैं और पसंद भी किए जाते रहे हैं।प्रभात प्रकाशन से प्रकाशित इस उपन्यास का एक छोटा सा अंश पढ़िए- मॉडरेटर =============================== कल्पना कथा कप्पादोकिया में परियों की चिमनियों के ठीक …

Read More »

काफ़िर कवि की कविताएँ

अच्छी कविताएँ उदासी को दूर कर देती है। सबसे अच्छी कविताएँ वह होती हैं जिनको पढ़कर मन उदास हो जाता है। कवि काफ़िर की कविताएँ मुझे तक ऐसे लेखकों-मित्रों के रास्ते आई जिनके पसंद, जिनके चयन मुझे पसंद आते रहे। काफ़िर मूलतः प्रेम के कवि हैं लेकिन उनकी अनेक कविताओं …

Read More »

जनादेश 2019: एक बात जो बार-बार छूट रही है…

कल लोकसभा चुनावों के अभूतपूर्व परिणाम, जीत-हार का बहुत अच्छा विश्लेषण किया है युवा लेखक पंकज कौरव ने। हमेशा की तरह पंकज का एक गम्भीर, चिंतनपरक और बहसतलब लेख- मॉडरेटर ============ जनादेश आखिर जनादेश होता है। हां कभी-कभी वह भावावेश में भी आता है लेकिन बावजूद इसके अगर दोहराया जाता …

Read More »

गांधी की आलोचना से गोडसे के गुणगान तक

लुई फ़िशर की किताब के हिंदी अनुवाद ‘गांधी की कहानी’ से कुछ प्रासंगिक अंश चुने हैं भाई परितोष मालवीय। आप भी पढ़िए- मॉडरेटर ============== गाँधी की आलोचना ठीक है और ज़रूरी भी, लेकिन इधर लोग गाँधी की आलोचना नहीं, गोडसे का गुणगान कर रहे हैं। पूरा एक विचार-तंत्र प्रचारित और …

Read More »

पिता ने राजीव गांधी को गुलाबों से प्यार करना सिखाया

आज देश के विजनरी प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी की पुण्यतिथि है। उनको याद करते हुए आरती रामचन्द्रन की किताब ‘डिकोडिंग राहुल गांधी’ किताब से एक अंश प्रस्तुत है। किताब का प्रकाशन यात्रा बुक्स ने किया है- मॉडरेटर =============================== राजीव गाँधी और माँ सोनिया गाँधी को राजनीति में आने का अवसर …

Read More »

नवारुण भट्टाचार्य की कहानी ‘पृथ्वी का आख़िरी कम्युनिस्ट’ 

नवारुण भट्टाचार्य की इस प्रसंगिक कहानी का अनुवाद किया है जानी-मानी लेखिका, अनुवादिका मीता दास ने- मॉडरेटर =================================== इस पृथ्वी का आख़िरी कम्युनिस्ट नवारुण भट्टाचार्य बांग्ला से अनुवाद: मीता दास 2020 साल में एक घटना इस प्रकार घटित होगी जो इस कहानी से ही प्रमाणित हो जाएगा कि आज से …

Read More »

दो मूर्धन्य चित्रकारों का पत्राचार

दो मूर्धन्य चित्रकारों सैयद हैदर रज़ा और किशन खन्ना के बीच पत्र व्यवहार की एक बड़ी अच्छी पुस्तक है ‘माई डियर’, जिसका अनुवाद मैंने दो साल पहले किया था। रज़ा न्यास के सम्पादक जी को वह अनुवाद बहुत पसंद भी आया जिसकी वे बार बार तस्कीद करते रहे लेकिन पुस्तक …

Read More »

कैसे रचा गया होगा यूँ पत्थरों में स्वर्णिम इतिहास

भारती दीक्षित चित्रकार हैं, कहानियों का यूट्यूब चैनल चलाती हैं और बहुत अच्छा लिखती हैं। जानकी पुल पर हम उनके यात्रा वृत्तांत पहले भी पढ़ चुके हैं। इस बार एलोरा यात्रा का वर्णन पढ़िए- मॉडरेटर ====================== जब  अजंता से चले तब आँखों में चमक थी,मन और तन दोनों था ऊर्जा  …

Read More »