Home / कथा-कहानी (page 5)

कथा-कहानी

त्रिलोकनाथ पाण्डेय के उपन्यास ‘बिकमिंग गॉड’ का एक अंश

‘प्रेमलहरी’ के लेखक त्रिलोक नाथ पाण्डेय का नया अंग्रेजी उपन्यास आया है – Becoming God, जिसके बारे में दावा किया गया है कि यह एक आध्यात्मिक थ्रिलर है. पौराणिक शिव-कथा को नये कलेवर और नये आयामों को उजागर करते हुए कहने का प्रयास किया गया है इस उपन्यास में. कथा …

Read More »

गीताश्री की कहानी ‘लिच्छवि राजकुमारी’

प्राचीन भारत में रूपवती और गुणवती स्त्रियों के समक्ष जो समस्या थी वही आज भी है- उसे समझने वाला पुरुष कहाँ मिलेगा? प्रसिद्ध लेखिका गीताश्री ने प्राचीन भारत की इस कथा के माध्यम से इसी ओर ध्यान दिलाया है। बहुत प्रासंगिक कहानी है- मॉडरेटर ========================================== लिच्छवि राजकुमारी की सुंदरता, विद्वता …

Read More »

आ. चारुमति रामदास की कहानी ‘ऐसा भी होता है!’

आ. चारुमति रामदास हैदराबाद में प्रोफ़ेसर रही हैं। रूसी भाषा से उन्होंने अनेक कहानियों का हिंदी में अनुवाद किया है जिसमें मिखाईल बुलगाकोव का उपन्यास ‘मास्टर एंड मार्गरीटा’ भी है। आज उनकी एक छोटी सी कहानी जो कुछ कुछ जादुई यथार्थवाद जैसी है। आप भी पढ़िए- मॉडरेटर ======================= हम समुन्दर …

Read More »

वैशाली की कन्या और कमल के फूल

वरिष्ठ लेखिका गीताश्री आजकल वैशाली के भग्नावशेषों में बिखरी प्राचीन कथाओं की खोज कर रही हैं। यह उस ख़ज़ाने की पहली कहानी है- =================================== वैशाली के खंडहरो में जाने कितनी प्रेम कथाएं सांसें लेती हैं। उन कथाओं के नाम कई स्तूप हैं। कुछ तो नष्ट हो गए, कुछ अब भी …

Read More »

त्रिलोक नाथ पांडेय की जासूसी कहानी ‘आस्था’

भारत सरकार के गुप्तचर ब्यूरो में बहुत वरिष्ठ पद से सेवानिवृत्त त्रिलोक नाथ पाण्डेय अब साहित्य-साधना में लग गए हैं. राजकमल प्रकाशन से अभी हाल में आये इनके उपन्यास ‘प्रेमलहरी’ ने काफी ख्याति अर्जित की है. चाणक्य के जासूसी कारनामों पर आधारित उनका शोधपरक ऐतिहासिक उपन्यास शीघ्र ही आने वाला …

Read More »

कहाँ फँस गए कमालुद्दीन मियाँ?

उषाकिरण खान हिंदी की वरिष्ठ लेखिका हैं और उनके लेखन में बहुत विविधता रही है। उनकी ताजा कहानी पढ़िए। यह कहानी उन्होंने ख़ुद टाइप करके भेजी है- मॉडरेटर ================================ कहाँ फँस गये कमालुद्दीन मियाँ कमाल ही कहे जाते हैं। वे क़ुतुब मियाँ के इकलौते चश्मेचिराग थे। चार खूबसूरत बेटियों के …

Read More »

सौम्या बैजल की कहानी ‘ख़त’

युवा लेखिका सौम्या बैजल की छोटी छोटी कहानियाँ और कविताएँ हम लोग पढ़ते रहे हैं। इस बार अरसे बाद उनकी कहानी आई है, छोटी सी प्रेम कहानी- मॉडरेटर ======================================= ख़त ‘उस दिन जब तुमसे पहली बार मिली थी, तो यह नहीं सोचा था की इतने करीब हो जाएंगे। और आज …

Read More »

पूजा त्रिपाठी की कहानी ‘बैंगनी फूल’

आज ईद के मौक़े पर पढ़िए पूजा त्रिपाठी की कहानी ‘बैंगनी फूल’– मॉडरेटर ====================================== बैंगनी फूल “क्या बकवास खाना है यार, इसे खायेगा कोई कैसे” विशाल ने टिफ़िन खोलते ही कहा. “ अगर ४ दिन और ये “खाना खाना पड़ा तो मुझसे न हो रही इंजीनियरिंग, मैं जा रहा वापस …

Read More »

सुषमा गुप्ता की कहानी ‘मेरी पीठ पर लिखा तुम्हारा नाम’ 

सुषमा गुप्ता एक बहुराष्ट्रीय कम्पनी में प्रबंध निदेशिका हैं। इनकी कहानियाँ, कविताएँ प्रमुख पत्र पत्रिकाओं में प्रकाशित होती रही हैं। अभी हाल में इनकी एक कहानी ‘नया ज्ञानोदय’ में भी आई है। जानकी पुल पर यह लेखिका की पहली कहानी है- मॉडरेटर ================================= मेरी पीठ पर लिखा तुम्हारा नाम  वहाँ …

Read More »

  कमला दास की कहानी ‘हिरासत’

आज मलयालम की प्रसिद्ध लेखिका कमला दास की पुण्यतिथि है। 31 तारीख़ का उनके जीवन में अजब संयोग था। 31 मार्च 1934 को उनका जन्म हुआ और 31 मई 2009 को अपने पीछे विपुल साहित्य और असंख्य विवादों को छोड़कर दुनिया से कूच कर गई। उनकी इस मार्मिक कहानी का …

Read More »