Home / कविताएं

कविताएं

  विमलेश त्रिपाठी की ग्यारह कविताएँ

विमलेश त्रिपाठी समकालीन हिंदी कविता में जाना-पहचाना नाम है। उनकी तीन कविता संग्रहों का एक जिल्द में प्रकाशन हुआ है जिसका नाम है ‘लौटना है एक दिन’। प्रलेक प्रकाशन से प्रकाशित इस कविता संग्रह से चयनित 11 कविताएँ पढ़िए- ========================== 1  लोहा और आदमी     वह पिघलता है और …

Read More »

‘सौंदर्य जल में नर्मदा’ आनंद कुमार सिंह की नहीं बल्कि साहित्य की काव्य-सम्पदा है

आनंद कुमार सिंह का कविता संग्रह ‘सौंदर्य जल में नर्मदा’ बहुत अलग तरह का कविता संग्रह है, इसमें नर्मदा नदी को लेकर कवि की लिखी गई कविताएँ हैं। इसी संग्रह पर टिप्पणी लिखी है युवा लेखिका प्रियंका नारायण ने- =============================== सौंदर्य जल में नर्मदा क्रमवार ख़ोज और सिलसिलों के बीच …

Read More »

दीपा गुप्ता की कुछ कविताएँ

दीपा गुप्ता कवि रहीम पर अपने काम के लिए जानी जाती हैं। वह संवेदनशील कवयित्री हैं और हाल में ही उनका कविता संग्रह प्रकाशित हुआ है ‘सप्तपदी के मंत्र’ नाम से। उसी संग्रह से कुछ कविताएँ- =================   शहरी भेड़िए ——————- तुम्हारे गाल पर पड़े मेरी उँगलियों के निशान मेरी …

Read More »

अनुकृति उपाध्याय की कविताएँ

अनुकृति उपाध्याय एक दुर्लभ द्विभाषी लेखिका हैं अंग्रेज़ी में लिखे अपने उपन्यास ‘kintsugi’ के लिए उनको इस साल सुशीला देवी सम्मान से नवाज़ा गया है। उनकी कहानियों, उनके उपन्यास ‘नीना आंटी’ ने लेखकों पाठकों के दिल में एक खास जगह बनाई है। वह कविताएँ भी लिखती हैं। आज उनकी कुछ …

Read More »

दिव्या श्री की नई कविताएँ

दिव्या श्री बिहार के बेगूसराय में अंग्रेज़ी की छात्रा हैं, अनुवाद भी करती हैं। इनकी कविताएँ सभी प्रमुख पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुकी हैं। यह उनकी नई कविताएँ हैं- ======================   1. प्रेम किस शै का नाम है *****************   जब मैं पहली बार प्रेम में पड़ी मेरी उम्र सत्रह …

Read More »

सौम्या बैजल की ताज़ा कविताएँ

सौम्या बैजल कवयित्री, रंगमंच की दुनिया से जुडी कलाकार, विज्ञापन की दुनिया में काम करने वाली, एक फेमिनिस्ट, एक्टिविस्ट, लेखिका हैं. कविताओं में वह सब कहने की कोशिश करती हैं, जो कई बार रोज़ की भागम-भाग में आँखों से ओझल रहता है. वह लाडली मीडिया अवार्ड्स में jury भी रह चुकी …

Read More »

वीरेंद्र प्रसाद: कुछ कविताएँ-गीत

भा.प्र.से. से जुड़े डॉ. वीरेन्द्र प्रसाद अर्थशास्त्र एवं वित्तीय प्रबंधन में स्नातकोत्तर की शिक्षा प्राप्त की है। वे पशु चिकित्सा विज्ञान में स्नातकोत्तर भी हैं। रचनात्मक लेखन में उनकी रुचि है। प्रस्तुत है भीड़भाड़ से दूर रहने वाले कवि-लेखक वीरेन्द्र प्रसाद की कुछ कविताएँ और गीत- ===========   यहाँ भी …

Read More »

युवा कवि चंद्रकुमार की कविताएँ

चंद्रकुमार ने कॉर्नेल विश्वविद्यालय, न्यूयार्क से पढ़ाई की। वे आजकल एक निजी साफ्टवेयर कंपनी में निदेशक है लेकिन उनका पहला प्यार सम-सामयिक विषयों पर पठन-लेखन है। स्थानीय समाचार पत्रों में युवाओं के मार्गदर्शन के लिए लंबे समय तक एक नियमित स्तंभ लेखन के साथ ही खेल, राजनीति, शिक्षा, कलाओं और …

Read More »

कविता दुःखों के साथ कि गयी सबसे बड़ी नाइंसाफ़ी है: रवित यादव

दिल्ली विश्वविद्यालय के लॉ फ़ैकल्टी के छात्र रवित यादव की कुछ नई कविताएँ पढ़िए। गद्य-पद्य कविता में कुछ नए प्रयोग हैं- ========================   1-कविता, दुःखों के साथ कि गयी सबसे बड़ी नाइंसाफ़ी है। ……….……..   कोई ऐसी कविता ढूँढ रहा हूँ जो यह बता सके कि कौन से दुःखों को …

Read More »

राज्यवर्धन की कविताएँ

आज पढ़िए वरिष्ठ कवि राज्यवर्धन की कविताएँ। प्रचार-प्रसार से दूर रहने वाले इस कवि की कविताएँ पढ़िए- =================================   (1) आठवाँ घोड़ा ———————- सूरज का कोई भी घोड़ा लोक के पक्ष में नहीं है   सातवाँ घोड़ा भी नहीं   घोड़साल के घोड़े जुते हैं रथ में निकाल दी गई …

Read More »