Recent Posts

अंबर पाण्डेय की कुछ नई प्रयोग-कविताएं

इस समय हिन्दी में सबसे प्रयोगशील कवि अंबर पांडे हैं। जब उनकी कविताओं का मुहावरा समझ में आने लगता है कि वे उसको बदल देते हैं। भाषा-लहजा सब कुछ बदलने वाला यह कवि हर बार कुछ चमत्कार कर जाता है। नई कविताएं पढ़िये- मॉडरेटर ============== तमाशा-ए-नसीब तमामी तहमद हो कि …

Read More »

वरिष्ठ कवि ऋतुराज की चीन डायरी

आज हिन्दी दिवस है। सुबह से सोच रहा था कि क्या लगाऊँ। अंत में मुझे लगा कि आज किसी वरिष्ठ लेखक का लिखा पढ़ा-पढ़ाया जाये। ऋतुराज जी की चीन डायरी कल रात ही ‘बनास जन’ में पढ़ी थी। सोचा आप लोगों से भी साझा किया जाये- मॉडरेटर ============== 15 अप्रैल, …

Read More »

राहुल तोमर की नई कविताएँ

हिन्दी में कविता ऐसी विधा है जिसमें सबसे अधिक लिखा जाता है लेकिन यह भी सच्चाई है कि इसी विधा में सबसे अधिक प्रयोग होते हैं, अभिव्यक्ति की नवीनता के दर्शन होते हैं। राहुल तोमर की कविताओं में भी ताजगी है, कहने का अंदाज़ नया है। जैसे इन कविताओं में- …

Read More »