Recent Posts

गौतम राजऋषि की ताज़ा नज़्म ‘ये गुस्सा कैसा गुस्सा है’

आज पढ़िए जाने-माने शायर गौतम राजऋषि की ताज़ा नज़्म- ======================   ये ग़ुस्सा कैसा ग़ुस्सा है ये ग़ुस्सा कैसा-कैसा है ये ग़ुस्सा मेरा तुझ पर है ये ग़ुस्सा तेरा मुझ पर है ये जो तेरा-मेरा ग़ुस्सा है ये ग़ुस्सा इसका-उसका है ये ग़ुस्सा किस पर किसका है ये ग़ुस्सा सब …

Read More »

   डॉ.धर्मवीर का  दलित विमर्श: सुरेश कुमार

प्रसिद्ध दलित विचारक डॉक्टर धर्मवीर के जीवन और लेखन पर एक शानदार लेख ‘समकालीन भारतीय साहित्य’ में पढ़ा। युवा आलोचक सुरेश कुमार का लिखा यह लेख सोचा आप लोगों से भी साभार साझा किए जाए- ==========================   दलित चिंतन की स्वतंत्र ज़मीन और डा. आम्बेडकर के विचारों का पुर्नपाठ में …

Read More »

हरे पीले लाल के बीच झूलती ज़िन्दगी: अजय सोडानी

इंदौर शहर के जाने-माने चिकित्सक डॉक्टर अजय सोडानी जाने-माने लेखक हैं। कोरोना काल में चिकित्सा के अनुभवों को लेकर उन्होंने तीन अंकों में एक सीरिज़ ‘दैनिक भास्कर’ में लिखी। आप लोगों के लिए तीनों एक साथ प्रस्तुत कर रहे हैं- =============================== “बेटा मिल सके तो कहीं से एक अनार लेते …

Read More »