Recent Posts

मेरी यात्राओं का यादगार हिमाचल

युवा लेखक-पत्रकार स्वतंत्र मिश्र हिमाचल यात्रा के संस्मरण लिख रहे हैं. उनकी रोमांचक यात्राओं की दूसरी क़िस्त आज प्रस्तुत है- मॉडरेटर  ========================= पाठक और पत्रकार मित्र के घर दो दिन मैंने तहलका से इस्तीफा दे दिया था और ‘शुक्रवार’ 1सितंबर 2012 से ज्वाइन करना था। तहलका छोड़ने और शुक्रवार ज्वाइन …

Read More »

सुधांशु फिरदौस की कविताएं

अभी परसों ही अखबार में पढ़ा कि युवा कविता के लिए दिया जाने वाला भारतभूषण अग्रवाल पुरस्कार इस बार किसी कवि को नहीं दिया जायेगा क्योंकि इस साल के निर्णायक अशोक वाजपेयी को इस योग्य कोई कवि नहीं लगा. मैं विनम्रता से कहना चाहता हूँ कि श्री वाजपेयी लगता है …

Read More »

क्या ओम थानवी को भुला दिया जाना चाहिए?

हमेशा की तरह आज भी सुबह उठकर सबसे पहले जनसत्ता अखबार खोला. ओम थानवी का नाम संपादक की जगह नहीं मिला. जबकि अखबार में कोई बदलाव नहीं दिखा लेकिन न जाने क्यों पढ़ते हुए एक सूनापन, खालीपन महसूस हुआ. होता है 16 साल से उनका नाम देख रहा था. इन …

Read More »