Recent Posts

इसमें सिनेमा और साहित्य दोनों का मजा है!

अपने लेखन में राजस्थान की मिटटी की खुशबू लिए लेखक रामकुमार सिंह की एक कहानी पर चंद्रप्रकाश द्विवेदी ने बड़ी शानदार फिल्म बनाई ‘जेड प्लस‘. बाद में ‘जेड प्लस’ उपन्यास के रूप में छप कर आया. दोनों के अनुभवों से गुजरते हुए आशुतोष कुमार सिंह ने यह लेख लिखा है, …

Read More »

मंजरी श्रीवास्तव की नई कविताएं

मंजरी श्रीवास्तव मूलतः कवयित्री हैं. लेकिन कई मोर्चों पर एक साथ सक्रिय रहने के कारण उसका कवि रूप इधर कुछ छिप सा गया था. उसकी नई कविताएं पढ़ते हुए ताजगी का अहसास हुआ. खासकर इसलिए भी क्योंकि ये कविताएं मेरे प्रिय लेखकों में एक निर्मल वर्मा के लेखन, उसके जादू …

Read More »

अमीर खुसरो पर नाटक लिखने की तैयारी में हूँ- उषाकिरण खान

वरिष्ठ लेखिका उषाकिरण खान हिंदी, मैथिली साहित्य की जानी पहचानी लेखिका हैं. उनके नए उपन्यास ‘अगनहिंडोला’ के बहाने पेश है सुशील कुमार भारद्वाजसे हुई उनकी कुछ बातें:- ————————————————————————————— आपका नया उपन्यास अगनहिंडोला आया है? अगनहिंडोला का क्या मतलब है? अगनहिंडोला ब्रजभाषा का एक शब्द है| जो दो शब्दों से बना है- …

Read More »