Recent Posts

दीपिका पादुकोण से शुरू अलका लांबा पर ख़त्म

हाल के दिनों में फिल्म अभिनेत्रियों, सार्वजनिक जीवन में मुखर महिलाओं को लेकर ‘सेक्सिस्ट’ टिप्पणियों में वृद्धि हुई है. हाल में ही घटित हुए दीपिका पादुकोण और अलका लांबा प्रकरण को लेकर पत्रकार स्वाति अर्जुन ने यह छोटी सी टिप्पणी लिखी है. आपके सोचने, विचारने के लिए- मॉडरेटर. ==================================== पिछले हफ्ते …

Read More »

खदेरू का पिंगपौंग ख़दशा (आशंका)

सदफ नाज़ फिर हाज़िर हैं. उनके व्यंग्य लेख ‘लव जेहाद बनाम दिलजलियाँ’ को पाठकों का खूब प्यार मिला था. इस बार उनके व्यंग्य की ज़द में कुछ आशंकाएं हैं. चीन के सदर आये और दिल्ली की जगह सीधा अहमदाबाद गए. इतनी सादगी से व्यंग्य बाण छोडती हैं कि हँसते हँसते …

Read More »

स्वरांगी साने की कविताएं

आज स्वरांगी साने की कविताएं. कुछ कवि ऐसे होते हैं जो चुपचाप लिखते चले जाते हैं, छपने-छपाने के मोह में ज्यादा पड़े. पढ़कर उनकी कविताओं पर अपनी राय दीजिए- मॉडरेटर  ========================================================= 1.  मोरपंख एक घने जंगल में  वो चली जा रही थी अकेले  जंगल और घना होता जाता  और उसकी …

Read More »