Recent Posts

मार्खेज़-जीवन प्रसंग: मसीजीवी होने का फैसला और पहला उपन्यास

नोबेल पुरस्कार विजेता लेखक मार्खेज़ के संघर्ष के दिनों के कुछ रोचक और प्रेरक प्रसंगों से हम समय-समय पर आपको रूबरू करवाते रहे हैं. आज आइये उनके पहले उपन्यास ‘लीफ स्टोर्म’ से जुड़े किस्से से रूबरू होते हैं- जानकी पुल. जब 21 साल की उम्र में मार्केज़ ने यह तय …

Read More »

ज्ञानपीठ के प्रबंध न्यासी के नाम प्रसिद्ध लेखक गिरिराज किशोर का पत्र

हिंदी के जाने-माने लेखक गिरिराज किशोर ने भारतीय ज्ञानपीठ के प्रबंध न्यासी अखिलेश जैन को एक पत्र लिखा है. जो यहाँ प्रस्तुत है. ध्यान रहे की गिरिराज किशोर और प्रियंवद ने नया ज्ञानोदय प्रकरण में सबसे पहले अपनी किताबें वापस ली थी. आइये ‘पहला गिरमिटिया’ के लेखक का पत्र पढते …

Read More »

मशहूर लेखक मार्केज़ के कुछ रोचक जीवन प्रसंग

गाब्रिएल गार्सिया मार्केज़ को विश्व के महानतम जीवित लेखक के रूप में देखा जाता है. उनके जीवन और लेखन को लेकर मैं हिंदी में मैं एक पुस्तक लिख रहा हूँ. यहाँ उसके कुछ रोचक अंश प्रस्तुत हैं जिनका संबंध मार्केज़ के जीवन से है- जानकी पुल. अंधविश्वास और फितूर मार्केज़ …

Read More »