Breaking News

Recent Posts

शिवमूर्ति: हमें नयी पीढ़ी के लेखन पर विश्वास रखना होगा.

हाल में ही हिंदी के वरिष्ठ कथाकार-उपन्यासकार शिवमूर्ति ६० साल के हुए। इस अवसर उनकी बातचीत प्रस्तुत है। इसमें उन्होंने अपनी आगे की लेखन-योजनाओं के बारे में तो बात की ही है वरिष्ठ पीढी बनाम युवा पीढी विवाद पर भी खुलकर अपनी बात रखी है। इस बातचीत का एक अंश …

Read More »

दैहिक गरिमा के भीतर-बाहर

अनामिका और पवन करण की कविताओं पर चली बहस में आज युवा लेखिका विपिन चौधरी की टिप्पणी- जानकी पुल.  =========  विश्व स्तर पर जिस बीमारी से १०.९ मिलियन महिलाएं जूझ रही हों उसी बीमारी और उस अंग विशेष को लेकर लिखी गयी कविताओं से परिणामस्वरूप सामने आई प्रतिक्रियों से एक …

Read More »

यह (उनकी) पोर्नोग्राफी नहीं, (आप की) गुंडागर्दी है

अनामिका और पवन करण की कविताओं पर ‘कथादेश’ में शालिनी माथुर के लेख के प्रकाशन के बाद उन कविताओं के कई पाठ सामने आए. आज वरिष्ठ लेखक-पत्रकार राजकिशोर का यह लेख- जानकी पुल. =============================================================== स्तनों पर लिखना बहुत मुश्किल है। स्तनों पर कुछ लिखा गया हो, तो उस पर  विचार …

Read More »