Recent Posts

विचारधारा प्रतिभा को पुष्ट-सशक्त कर सकती है, उसे नष्ट भी- अशोक वाजपेयी

कल श्री गिरिराज किराडू ने हमारी भाषा के वरिष्ठ कवि-आलोचक-संपादक श्री अशोक वाजपेयी को उनकी बातों के सन्दर्भ में स्पष्टीकरण देते हुए पत्र लिखा था. आज अशोक जी ने उस पत्र का जवाब देते हुए बहुत गरिमापूर्ण ढंग से अपनी बातों को रखा है, लेकिन इस छोटे से पत्र में …

Read More »

गिरिराज किराडू का पत्र श्री अशोक वाजपेयी के नाम

श्री अशोक वाजपेयी जी का जो ईमेल हमने सार्वजनिक किया था उसके सन्दर्भ में गिरिराज किराडू का यह ईमेल हमें मिला है, जो दरअसल अशोक जी के नाम उनका पत्र है. आप इस पत्र को पढ़ें और इस पूरे प्रकरण को एक नए आलोक में समझने का प्रयास करें. यह …

Read More »

‘प्रतिलिपि’ ने किताबों के प्रकाशन के लिए वित्तीय मदद मांगी थी– अशोक वाजपेयी

श्री अशोक वाजपेयी का यह ईमेल हमें प्राप्त हुआ है जिसमें उन्होंने ‘प्रतिलिपि बुक्स’ को लेकर कुछ बातों को स्पष्ट किया है. प्रतिलिपि के निदेशक युवा कवि-कल्पनाशील संपादक गिरिराज किराडू हैं. यह लोकतांत्रिकता का तकाजा है कि हम वरिष्ठ कवि-आलोचक-संपादक अशोक वाजपेयी के उस ईमेल को अविकल रूप से सार्वजनिक …

Read More »