Recent Posts

क्या आप मनोरंजन ब्यापारी को जानते हैं?

मैं भी नहीं जानता था. पहली बार यह नाम अपनी प्रिय लेखिका अलका सरावगी के उपन्यास ‘शेष कादम्बरी’ में पढा था. वे दिन धुआंधार समीक्षा लिखने के थे. मैंने मनोरंजन ब्यापारी नाम को इंटरटेंमेंट इंडस्ट्री से जोड़ा. जाहिर है, उस नाम को मैंने काल्पनिक समझा और मैंने यह लिखा उस …

Read More »

पटना लिटरेचर फेस्टिवल आज से शुरु

आज से पटना लिटरेचर फेस्टिवल शुरु हो रहा है. ऐतिहासिक शहर में एक ऐतिहासिक आयोजन. दो दिनों तक चलने वाले इस आयोजन की रुपरेखा नीचे दी जा रही है- जानकी पुल. ====================================== 23 मार्च 2013 (शनिवार), तारामंडल ऑडिटोरियम सत्र 1: सुबह 9.30 से 10.30 बजे  भाषा, साहित्य और संस्कृति: उभरते भारत में पहचान की तलाश  आलोक राय, ज्ञान प्रकाश, इम्तियाज अहमद, पवन के. वर्मा, डेजी नारायण  से  ओम थानवी की बातचीत सत्र 2: सुबह 10.30 से 11 बजे  कायनात-ए-नज्म (काव्य पाठ ) …

Read More »

पाकिस्तान समुंदर-ए-कुफ्र में एक रोशन जज़ीरा है!

पाकिस्तान के लेखक हसीब आसिफ के इस लेख की तरफ ध्यान दिलवाया मित्र कवि गिरिराज किराडू ने. जिन्होंने इसे http://hillele.org पर पढ़ा. और वहां यह काफिला से साभार लगा है. सबसे साभार अब आप इसे यहां पढ़िए. क्या व्यंग्य है?- जानकी पुल. =========================================  यहां के लोग कुदरत की तमाम नेअमतों …

Read More »