Recent Posts

प्रकृति से एकमेक कलाकार- वेद नायर

पेंटर वेद नायर की कला और उनकी कला-प्रेरणाओं पर यह लेख लिखा है कवयित्री विपिन चौधरी ने. उनकी कला को समझने के लिहाज से इस लेख का अपना महत्व है- जानकी पुल. ================================================ किसी कला-दीर्घा में  प्रदर्शित आधुनिकता की आबोहवा से लस्त-पस्त लम्बोतरे चेहरे उस वयोवृद्ध भारतीय कलाकार की कलाकृतियों का अटूट  हिस्सा हैं, …

Read More »

भोजपुरी वाया भोजपुरिया नेटवर्क

भोजपुरी सिनेमा के पचास साल के बहाने भोजपुरी नेटवर्क पर एक अच्छा लेख लिखा है ‘दिलनवाज’ ने- जानकी पुल. ========= कहा जाता है कि भोजपुरी सिनेमा आम आदमी का सिनेमा है। भोजपुरी फिल्मों की संकल्पना में हिंदी सिनेमा से छूटे समुदाय के लिए एक विकल्प का निर्माण करना था। हाशिए …

Read More »

ज्योति कुमारी की कहानी ‘शरीफ लड़की’

हाल में संपन्न हुए विश्व पुस्तक मेला के दौरान युवा लेखिका ज्योति कुमारी के कहानी संग्रह ‘दस्तखत तथा अन्य कहानियां की चर्चा रही. जिन लोगों ने उनकी कहानियां न पढ़ी हों उनके लिए वाणी प्रकाशन से प्रकाशित उसके इसी संग्रह से एक कहानी ‘शरीफ लड़की’- जानकी पुल. =============================== सब कुछ …

Read More »