Breaking News
Home / Tag Archives: प्रचण्ड प्रवीर

Tag Archives: प्रचण्ड प्रवीर

वैजयंतीमाला आई थी रीगल के आखिरी शो में ‘संगम’ देखने

युवा लेखक प्रचण्ड प्रवीर को रीगल के आखिरी शो में वैजयंती माला सिर्फ मिली ही नहीं बल्कि उनकी उनसे मुलाकात भी हुई. वह फिल्म की ही तरह सफ़ेद साड़ी पहने आई थी. पढ़िए बहुत दिलचस्प है सारा वाकया- मॉडरेटर =================================================== कल की बात – १६८ कल की बात है। जैसे …

Read More »

हास्य रस और विश्व सिनेमा

प्रचण्ड प्रवीर बहुत दिनों से रस सिद्धांत के आधार पर विश्व सिनेमा का अध्ययन कर रहे हैं. इस बार हास्य रस के आधार पर उन्होंने विश्व सिनेमा पर एक दिलचस्प लेख लिखा है- मॉडरेटर  =========================================================== इस लेखमाला में अब तक आपने पढ़ा: 1. हिन्दी फिल्मों का सौंदर्यशास्त्र – https://www.jankipul.com/2014/06/blog-post_7.html 2. …

Read More »

क्रोध भाव और रौद्र रस : विश्व की महान फ़िल्में

इधर हम फिल्मों के वाद-विवाद में लगे हुए थे आईआईटी पलट युवा लेखक प्रचंड प्रवीर रस सिद्धांत के आधार पर विश्व सिनेमा के विश्लेषण में लगे हुए थे. यह अपने ढंग की अकेली श्रृंखला है जिसमें रसों के आधार पर सिनेमा के साधारणीकरण को देखा गया है. आज रौद्र रस …

Read More »

सिनेमा में करुण रस क्या होता है?

युवा लेखक प्रचण्ड प्रवीर इन दिनों रस सिद्धांत के आधार पर विश्व सिनेमा के अध्ययन में लगे हैं. उनका यह लेख इस बात को लेकर है कि करुण रस दुनिया भर की फिल्मों में किस तरह अभिव्यक्त हुआ है. अंतर्पाठीयता का एक बेजोड़ उदाहरण- मॉडरेटर. ====================================== इस लेखमाला में अब …

Read More »

सिनेमा में वीर रस क्या होता है?

युवा लेखकों की एक बात मुझे प्रभावित करती है- वे बड़े फोकस्ड हैं. अपने धुन में काम करते रहते हैं. अब प्रचण्ड प्रवीर को ही लीजिये रस-सिद्धांत के आधार पर विश्व सिनेमा के विश्लेषण में लगे तो लगता है उसे पूरा किये बिना नहीं मानेंगे. आज वीर रस की फिल्मों …

Read More »

मैं आशिक बनना चाहता हूँ, पर बन नहीं पाया हूँ

आईआईटी पलट हिंदी लेखक प्रचण्ड प्रवीर, जिनके उपन्यास ‘अल्पाहारी गृहत्यागी’ का मैं बड़ा मुरीद रहा हूँ, बरसों से हिंदी में ‘कल की बात’ नाम से एक श्रृंखला लिख रहे हैं. जो अक्सर किसी व्यक्ति, किसी घटना पर होती है. इस बार इनके लपेटे में आये हैं मेरे दो प्रिय कलाकार. …

Read More »

मैं बहुत कम किसी से मिलता हूँ/ जिससे यारी है उससे यारी है

आज अख्तर नज्मी की कुछ ग़ज़लें. इनके बारे में इतना ही पता है कि इनका जन्म 1930 में हुआ और 1997 में इंतकाल. आज प्रचण्ड प्रवीर की इस प्रस्तुति का लुत्फ़ लीजिये और इस शदार शायर के बारे में हमारा ज्ञानवर्धन कीजिए- मॉडरेटर  =========== जो भी मिल जाता है घर …

Read More »

विश्व सिनेमा में वीर रस की फिल्में (भाग- १)

आइआइटी पलट युवा लेखक प्रचण्ड प्रवीर इन दिनों भरतमुनि के रस-सिद्धांत के आधार पर विश्व सिनेमा का अवलोकन प्रस्तुत कर रहे हैं. आज उन्होंने वीर रस के आधार पर विश्व सिनेमा की कुछ नायाब कृतियों का मूल्यांकन किया है. रोचक है. पढ़कर बताइए- मॉडरेटर. ================================================= इस लेखमाला में अब तक …

Read More »