Breaking News
Home / Tag Archives: विमलेन्दु (page 2)

Tag Archives: विमलेन्दु

जब सौ जासूस मरते होंगे तब एक कवि पैदा होता है : चन्द्रकान्त देवताले 

चंद्रकांत देवताले की कविताओं पर विमलेन्दु का लिखा एक आत्मीय लेख- मॉडरेटर ======================================== साल 1993 का यह जून का महीना था जब चन्द्रकान्त देवताले से पहली बार मुलाकात हुई थी. भोपाल में कवि भगवत रावत ने, मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सहयोग से एक कविता कार्यशाला का आयोजन किया था. …

Read More »

कृष्ण का जीवन उत्सव का संदेश बन गया!

आज जन्माष्टमी भी है. युवा लेखक विमलेन्दु का एक अवश्य पठनीय टाइप लेख इस मौके पर पढ़िए- मॉडरेटर ================================================= ईश्वर के अस्तित्व पर विश्वास  न होने के बाद भी कृष्ण मेरे प्रिय पात्र रहे हैं. कई बार जब किसी प्रश्न का जवाब ढूढ़ना मेरी सामर्थ्य के बाहर हो जाता है …

Read More »

भारत भूषण पुरस्कार कवि का अवमूल्यन भी कर देता है !

पिछले कुछ सालों से युवा कविता के सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार भारत भूषण अग्रवाल पुरस्कार मिलने के बाद बहस-विवाद की शुरुआत हो जाती है. बहस होना कोई बुरी बात नहीं है. भारत भूषण अग्रवाल पुरस्कार की शुरुआत साल की सर्वश्रेष्ठ युवा कविता को पुरस्कृत करने के लिए किया गया था. लेकिन साल …

Read More »

भारत-चीन: कभी हमसे तुमसे भी राह थी ! 

भारत-चीन  के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है. ऐसे में विमलेन्दु ने इस लेख में भारत-चीन के परंपरागत रिश्तों को लेकर अच्छा पठनीय लेख लिखा है- मॉडरेटर =========================== हममें से अधिकांश लोगों के लिए, चीन से हमारा प्रथम परिचय चाय की चुस्कियों के साथ शुरू होता था एक ज़माने में, …

Read More »

मेहदी हसन को याद करते हुए

आज ‘शहंशाह-ए-ग़ज़ल’ कहे जाने वाले मेहदी हसन की पुण्यतिथि है.  उनको याद करते हुए विमलेन्दु ने यह कविता लिखी है- अन्तरनाद ======== कोमल गांधार से शुरू होता था उनका अन्तरनाद जो धैवत् और निषाद के दरम्यान कहीं एकाकार हो जाता था हमारी आत्मा के सबसे उत्तप्त राग से. बड़े संकोच …

Read More »

असहमति को राष्ट्रद्रोह सिद्ध किये जाने के दौर में कुछ बातें

कल से एनडीटीवी चैनल समूह के प्रोमोटर्स के यहाँ पड़े सीबीआई के छापों को लेकर बहुत कुछ कहा-सुना जा रहा है. इतना तो साफ़ है कि मीडिया के लिए संकेत अच्छे नहीं हैं. एक लेख युवा लेखक विमलेन्दु का पढ़िए. इनका विश्लेषण भी पढने लायक है- मॉडरेटर ============== आपको वह …

Read More »

दाहिने की सुविधा, और वाम की दुविधा के समीक्षक डॉ.रामविलास शर्मा

आज आलोचक रामविलास शर्मा की पुण्यतिथि है. उनके अवदान को याद करते हुए विमलेन्दु का लेख- मॉडरेटर ====== रामविलास जी के अध्ययन और लेखन की शैली ऐसी थी जैसे एक हठी ऋषि तपस्या कर रहा हो. जो नित नए अँधेरों में जाता हो और वहाँ से कोई पत्थर का टुकड़ा, …

Read More »

धरती के स्वर्ग में कश्मीरी लाल मिर्च !  

विमलेन्दु का यह लेख कश्मीर की हमारी रूढ़ छवि को थोड़ा विचलित कर देने वाला है. लेकिन यह भी एक सच है. विमलेन्दु के विचार को जगह देना जनतांत्रिकता का तकाज़ा है- मॉडरेटर ========================================== सबसे पहले कश्मीर के मौजूदा दृश्य पर एक विहंगम नज़र डाल लेते हैं. इसके बाद कश्मीर …

Read More »

हिटलर एक बार आत्महत्या करता है, और अनन्त बार जन्म लेता है

आज के दिन ही हिटलर ने आत्महत्या की थी. उसके ऊपर विमलेन्दु का लेख- मॉडरेटर ========================================= 30 अप्रैल 1945 को हिटलर ने आत्महत्या कर ली थी. इतिहास के पन्नों पर जो लिखा हुआ है, उसके मुताबिक तो दूसरे विश्वयुद्ध में अपनी सेना की डावांडोल स्थिति ने उसे आत्महत्या के लिए …

Read More »

निरुद्देश्य हिंसा किस इन्कलाब के लिए की जाती है?

नक्सलवादी आन्दोलन अपनी दिशा भटक चुका. कल सुकमा में पुलिस जवानों की हत्या के बाद समय आ गया है कि वे सोचें कि आखिर वे पाना क्या चाहते हैं. विमलेन्दु का लेख इसी मसले पर- दिव्या विजय ======================================================== चार साल पहले छत्तीसगढ़ में कांग्रेसी नेताओं की नृशंस हत्या ने शायद पहली …

Read More »