Breaking News
Home / Featured / एक लडकी को उसके जूते की सही जोड़ी दो और वह आपको दुनिया जीत कर दिखा देगी: मर्लिन मुनरो

एक लडकी को उसके जूते की सही जोड़ी दो और वह आपको दुनिया जीत कर दिखा देगी: मर्लिन मुनरो

मर्लिन मुनरो 1950 के दशक की हॉलीवुड की सबसे चर्चित अदाकारा रही हैं. उनका जन्म 1 जून, 1926 को अमेरिका के कैलिफोर्निया प्रांत में हुआ. मर्लिन जब पैदा हुईं तो उनकी मां बहुत खराब मनोस्थिति से गुजर रही थी. पिता कौन था. पता नहीं था. जब वो छोटी थी तो मां को मानसिक चिकित्सालय में बरसों रखा गया. उन दिनों रिश्तेदारों के घर रहती  रहीं. उन्हें लोगों के यहां छोटे मोटे काम भी करने होते थे. ऐसे में उसका जीवन कैसा रहा होगा, अनुमान लगाया जा सकता है. संयोग से एक मशहूर फोटोग्राफर ने मर्लिन की तस्वीरें लीं और एक पत्रिका में प्रकाशित कर दीं और फिर उनकी जिंदगी कुछ मुस्कुरा उठी… मॉडलिंग के ऑफर मिलने लगे. मर्लिन हालात से समझौता तो करती थी लेकिन महत्वाकांक्षी भी थी और विलपॉवर तो गजब का था. उन्होंने बचपन में एक सपना देखा था कि एक दिन बड़ी हीरोइन बनेंगी और खूब नाम कमाएंगी और फिर उनका विलपॉवर उन्हें ऊंचाइयों तक ले गया. 4 अगस्त 1962 को मर्लिन मुनरो की रहस्मय मौत हो गयी. वे ऐसी शख्सियत थीं, जिन पर दुनिया की हर भाषा में किताब लिखी जा चुकी है. जीवन, प्रेम और प्रसिद्धि पर उनके द्वारा लिखे कुछ प्रसिद्ध उद्धरण इस प्रकार हैं-. अंग्रेज़ी से अनुवाद किया है नीता पोरवाल ने –

=================================================

 

  1. 1. “एक लडकी को उसके जूते की सही जोड़ी दो और वह आपको दुनिया जीत कर दिखा देगी.”

 

  1. “अगर आप मेरे खराब समय में मुझे सम्हाल नही सकते तो आप मेरे अच्छे वक़्त के भी लायक नही.”

 

  1. “असली प्रेमी वही है जो सिर्फ आपका माथा छूकर या आपकी आँखों में मुस्कुराते हुए देखकर – या आपके साथ अंतरिक्ष निहारकर आपको रोमांचित कर दे।”

 

  1. “यदि आप किसी लड़की को हँसा सकते हैं, तो आप उससे कुछ भी करा सकते हैं।”

 

  1. “किसी के साथ नाखुश रहने से, अकेले नाखुश रहना ज्यादा अच्छा है.”

 

6.“यकीन कीजिये हम सभी सितारे हैं और हमें चमकने का पूरा हक है.”

 

  1. “मैं आपको या किसी और को खुश करने के लिए नहीं, सफल होने के लिए जी रही हूँ.”

 

  1. “मेरी भी भावनाएँ हैं। मैं भी एक इंसान हूँ। मैं सिर्फ यही चाहती हूँ कि लोग मेरी प्रतिभा और मेरे अस्तित्व से प्यार करें।”

 

  1. “लड़कों को लगता है कि लड़कियां किताबों की तरह होती हैं, यदि कवर पेज उन्हें आकर्षित नहीं करता तो वे भीतर क्या है पढ़ने की जहमत नही उठाते।”

 

  1. “हमेशा, हमेशा, हमेशा खुद पर विश्वास रखो क्योंकि अगर आप ऐसा नहीं करेंगे तो कौन करेगा, मेरी जान? “

 

  1. “मुस्कुराते रहिये क्योंकि जिन्दगी एक खूबसूरत शय है और ऐसा बहुत कुछ है जिस पर मुस्कुराया जा सकता है.”

 

12.”एक सबसे अच्छी चीज जो कभी मेरे साथ हुई, वह यह है कि मैं एक महिला हूँ। ऐसा ही सभी महिलाओं को सोचना चाहिए।”

 

  1. “एक महिला अपनी छठी इन्द्रिय से जानती है, उसके लिए क्या सबसे अच्छा रहेगा।”

 

  1. “एक अभिनेत्री होने के बारे में सपने देखना अभिनेत्री होने से ज्यादा रोमांचक है।”

 

  1. लाखों लोग खुद को पाए बिना अपना पूरा जीवन जी लेते हैं। लेकिन यही एक पॉइंट कुछ ऐसा है जिसे मुझे गम्भीरता से करना चाहिए।”

 

16.”मैं खुद को खोजने की कोशिश कर रही हूँ जो कभी-कभी मुझे आसान नहीं लगता।”

 

17.“हमेशा मुस्कुराने की बात याद रखें और जीवन में जो कुछ भी मिला है उसे गौर से देखें।”

 

18.“सिर्फ इसलिए कि आप एक बार नाकाम हो गये हैं तो आगे भी हर चीज में नाकाम ही रहेंगे. ऐसा बिल्कुल न सोचें.”

 

  1. “अधूरापन ही सुन्दरता है, बावलापन ही प्रतिभा है और उबाऊ होने से ज्यादा अच्छा हास्यास्पद होना है, यकीन कीजिये!”

 

  1. “हमेशा जो हैं, जैसी हैं वैसी ही रहें। अपने अस्तित्व को बनाए रखें; अपना सबसे सच्चा वाकया स्वयं ही सुनें।“

 

22.”वास्तविक रहें, अपने आप बनें, अद्वितीय बनें, सच्चे बनें, ईमानदार बनें, विनम्र बनें और खुश रहें ..”

 

  1. “उन सभी लडकियों से जिन्हें लोगों की इस बात से फर्क पड़ता है जो कहते हैं कि वे मोटी हैं या आप जीरो साइज क्यों नही हैं? कहना चाहूंगी कि ऐसा कहने वाला यह समाज ही है जो बद्सूरत है”

======================

 

दुर्लभ किताबों के PDF के लिए जानकी पुल को telegram पर सब्सक्राइब करें

https://t.me/jankipul

 

 

  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  
  •  

About Prabhat Ranjan

Check Also

अमृतलाल नागर का पत्र मनोहर श्याम जोशी के नाम

आज मनोहर श्याम जोशी की जन्मतिथि है। आज एक दुर्लभ पत्र पढ़िए। जो मनोहर श्याम …

Leave a Reply

Your email address will not be published.