Home / Tag Archives: uday prakash

Tag Archives: uday prakash

‘पीली छतरी वाली लड़की’ की काव्य समीक्षा

यतीश कुमार की काव्यात्मक समीक्षा इस बार उदय प्रकाश के उपन्यास ‘पीली छतरी वाली लड़की’ की है। पढ़कर बताइए कैसा लगा- =================== (‘पीली छतरी वाली लड़की’ ) ——————————————-   वह रोज आईने में पहले अपनी शक्ल देखता फिर समाज को अपनी शक्ल में खोजता   समाज के आईने से प्रतिबिम्ब …

Read More »

उदय प्रकाश की कविताएँ उनकी एक प्रशंसिका की पसंद

बरसों बाद उदय प्रकाश का कविता संग्रह आया है ‘अम्बर में अबाबील’। मैं उदय जी की नैरेटिव कविताई का क़ायल रहा हूँ। लेकिन वाणी प्रकाशन से प्रकाशित उनके इस संग्रह की कुछ कविताएँ उनकी प्रशंसिका कुमारी रोहिणी ने अपनी पसंद से चुनी हैं। आप भी पढ़िए- मॉडरेटर =================== 1. जलावतनी …

Read More »

एक ही देश में कई तरह की दिवाली है

आज उदय प्रकाश जी का यह लेख ‘दैनिक हिन्दुस्तान’ में आया है। दीवाली के बहाने एक सारगर्भित लेख, जिन लोगों ने न पढ़ा हो उनके लिए- मॉडरेटर ========================== जो लोग जरा-सा भी देश के पर्वों-त्योहारों की परंपरा, उनकी जड़ों, उनके इतिहास का ज्ञान रखते हैं, वे बिना उलझन कहेंगे कि …

Read More »

भारत भूषण पुरस्कार कवि का अवमूल्यन भी कर देता है !

पिछले कुछ सालों से युवा कविता के सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार भारत भूषण अग्रवाल पुरस्कार मिलने के बाद बहस-विवाद की शुरुआत हो जाती है. बहस होना कोई बुरी बात नहीं है. भारत भूषण अग्रवाल पुरस्कार की शुरुआत साल की सर्वश्रेष्ठ युवा कविता को पुरस्कृत करने के लिए किया गया था. लेकिन साल …

Read More »

उदय प्रकाश की कविता ‘एक भाषा हुआ करती है’

उदय प्रकाश हिंदी के कवि बताये गए सारे कवियों से अधिक क्रिएटिव और समकालीन हैं. उनकी कविताओं में अपनी आवाज सुनाई देती है. नई सदी में उन्होंने हिदी कविता को एक नया मुहावरा दिया है. मातृभाषा दिवस के दिन उदय प्रकाश की इस कविता से अच्छा क्या पढना होगा- मॉडरेटर …

Read More »

अपनी निरर्थकता में संदिग्ध अस्वीकार

उदय प्रकाश ने जब से साहित्य अकादेमी पुरस्कार लौटाने की घोषणा की है बहस का सिलसिला थमता नजर नहीं आ रहा. इसकी शुरुआत वरिष्ठ कवि-आलोचक विष्णु खरे के एक लेख से हुई थी. कल आपने अरुण महेश्वरी का लेख पढ़ा, आज फिर विष्णु खरे की प्रतिक्रिया- मॉडरेटर  ========================== श्री उदय …

Read More »

श्रेष्ठ कृतियों की सूची बनाकर उनका बार-बार अध्ययन करना चाहिए

‘वागर्थ’ पत्रिका के मई अंक में एक परिचर्चा प्रकाशित हुई है ‘समकालीन कथा साहित्य और बाजार’  विषय पर. इसमें मैंने भी सवालों के जवाब दिए थे. पत्रिका के सवालों के साथ अपने जवाब प्रस्तुत कर रहा हूँ. उनके लिए जिन्होंने न पढ़ा हो और जो पढना चाहते हों- प्रभात रंजन  …

Read More »

लेखक का एकांत मृत्यु का एकांत होता है

उदय प्रकाश का उपन्यास ‘पीली छतरी वाली लड़की’ पुराना है, लेकिन सुशीला पुरी ने उसके ऊपर बेहद आत्मीय ढंग से, नए कोण से लिखा है. सोचा साझा किया जाए- जानकी पुल. ==================================================  उदय प्रकाश जैसे विरल,विराट,विपुल,वैविध्य वाले रचनाकार पर कुछ लिख पाने की मेरी सामर्थ्य नहीं। मैं एक अदना सी …

Read More »

‘कहानी’ में न अंटने वाला कहानीकार उदय प्रकाश

संजीव कुमार हिंदी के गंभीर आलोचकों में गिने जाते हैं. हाल के वर्षों में जिन कुछ आलोचकों को मिलने के कारण देवीशंकर अवस्थी सम्मान की विश्वसनीयता बरकरार है, वे उनमें एक हैं. बहुत खुलेपन के साथ उन्होंने उदय प्रकाश की कहानियों, उनकी कथा-प्रविधि पर लिखा है. उदय प्रकाश को पढ़ने …

Read More »

सृजनात्मकताएं मृत्यु का प्रतिकार हैं

 पिछले 1 जनवरी को उदयप्रकाश 60 साल के हो गए. मुझे बहुत आश्चर्य है कि उनकी षष्ठिपूर्ति को लेकर किसी तरह की सुगबुगाहट हिंदी में नहीं हुई. जबकि एक लेखक के रूप में उनकी व्याप्ति, उनकी लोकप्रियता अपने आप में एक मिसाल है. हम युवा लेखकों के लिए प्रेरणा का …

Read More »