Home / कविताएं (page 4)

कविताएं

वीरू सोनकर की नई किताब: नई कविता

वीरू सोनकर युवा कवियों में एक ऐसे कवि हैं जिनका अपना विशाल पाठक वर्ग है। सोशल मीडिया के सबसे सक्रिय कवियों में एक अच्छे कवि वीरू का कविता संग्रह आया है ‘मेरी राशि का अधिपति एक सांड है’। वाणी प्रकाशन से प्रकाशित इस किताब के बहाने वीरू सोनकर की एक …

Read More »

अरूण देव के नए संग्रह ‘उत्तर पैग़म्बर’ की कुछ कविताएँ

अरूण देव ‘समालोचन’ वेब पत्रिका के समादृत संपादक हैं, लेकिन सबसे पहले वे कवि हैं। इसी रूप में उनको लगभग दो दशक से जानता रहा हूँ। एक संवेदनशील कवि के रूप में। एक अंतराल के बाद उनका नया संग्रह आया है ‘उत्तर पैग़म्बर‘। राजकमल प्रकाशन से आई इस किताब की …

Read More »

व्योमेश शुक्ल के नए संग्रह ‘काजल लगाना भूलना’ से एक लम्बी कविता

एक अरसे के बाद व्योमेश शुक्ल का कविता संकलन आया है राजकमल प्रकाशन से ‘काजल लगाना भूलना’। कविता में किस्सागोई करने वाले इस कवि के नए संग्रह से एक कविता पढ़िए- मॉडरेटर ============= पोंSSSSSSSSSSSS यार, ख़ूब मन लगाकर शादी कीजिए फिर ख़ूब मन लगाकर बनारस आ जाइए सुनिए उस कारख़ाने …

Read More »

अंकिता आनंद की नौ नई कविताएँ

आज बहुत दिनों बाद अंकिता आनंद की कविताएँ पढ़िए। अंकिता जी कम लिखती हैं लेकिन शब्द-शब्द जिस बारीकी से जोड़कर कविता का साँचा गढ़ती हैं वह बहुत अलग है, उनका नितांत अपना शिल्प है कविताओं का। कुछ छोटी छोटी कविताएँ पढ़िए- मॉडरेटर ============ 1. अन्यमनस्क नदी के कटान ने मिट्टी …

Read More »

उदय प्रकाश की कविताएँ उनकी एक प्रशंसिका की पसंद

बरसों बाद उदय प्रकाश का कविता संग्रह आया है ‘अम्बर में अबाबील’। मैं उदय जी की नैरेटिव कविताई का क़ायल रहा हूँ। लेकिन वाणी प्रकाशन से प्रकाशित उनके इस संग्रह की कुछ कविताएँ उनकी प्रशंसिका कुमारी रोहिणी ने अपनी पसंद से चुनी हैं। आप भी पढ़िए- मॉडरेटर =================== 1. जलावतनी …

Read More »

अनामिका अनु की नई कविताएँ

बहुत कम समय में अनामिका अनु की कविताओं ने हिंदी के विशाल कविता संसार में अपनी उल्लेखनीय जगह बनाई है। उनकी कविताओं का रेंज बड़ा है और कहने का कौशल भी जुदा है। अरसे बाद उनकी कुछ कविताएँ पढ़िए- मॉडरेटर ======================== 1.अफवाह     अफवाह है कि एक बकरी है …

Read More »

अनुराग अन्वेषी की नई कविताएँ

अनुराग अन्वेषी मूलतः पत्रकार रहे हैं, लेकिन उनके अंदर एक संवेदनशील कवि भी है जो समाज की विसंगतियों पर समय समय टिप्पणी के रूप में प्रकट होता रहता है। इस बार लम्बे अंतराल के बाद उनकी कुछ कविताएँ पढ़िए- मॉडरेटर ========================== बेटे का डर ओ मां, आशंकाओं का घेरा बड़ा …

Read More »

लवली गोस्वामी के नए संग्रह की कुछ कविताएँ

लवली गोस्वामी मेरी पसंदीदा कवयित्रियों में रही हैं। अभी उनका नया संग्रह आया है ‘उदासी मेरी मातृभाषा है’, जिसकी भूमिका कवि गीत चतुर्वेदी ने लिखी है। प्रस्तुत है गीत की भूमिका के साथ इस संग्रह की कुछ कविताएँ- मॉडरेटर ========================== प्रस्तावना मृत्यु द्वारा आमंत्रित अतिथि – गीत चतुर्वेदी पिछले कुछ …

Read More »

‘माउथ ऑर्गन’ अपनी धुन गुनगुना रहा है

सुशोभित के लेखन की अपनी ख़ास शैली है जिसके कारण हज़ारों लोग उनको फ़ेसबुक पर रोज़ पढ़ते हैं। उनकी किताब ‘माउथ ऑर्गन’ का गद्य भी बहुत सम्मोहक है। मन की यात्राओं के इस गद्य पुस्तक की काव्यात्मक समीक्षा अपनी  खास शैली में यतीश कुमार ने की है- मॉडरेटर ====================== माउथ …

Read More »

प्रदीपिका सारस्वत की कविताएँ और कश्मीर

प्रदीपिका सारस्वत कश्मीर में लम्बा समय बिताकर अभी हाल में लौटी हैं। कुछ कविताओं में घाटी के दिल के दर्द को महसूस कीजिए- मॉडरेटर =======================   कश्मीर पर तीन कविताएँ       ऑप्रेसर     मैं एक व्यक्ति थी मेरा एक नाम था, एक चेहरा उसी की तरह मैं …

Read More »