Home / रपट (page 4)

रपट

भुबनेश्वर में शुरू हुआ चौथा कलिंग साहित्य महोत्सव

आज से उड़ीसा के भुबनेश्वर में शुरू हुए चौथे कलिंग साहित्य महोत्सव पर संतोष कुमार की रपट- मॉडरेटर =================================================== भुबनेश्वर: चौथे कलिंग साहित्य महोत्सव (केएलएफ) का  उद्घाटन केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान, प्रसिद्ध कवि और पद्म विभूषण डॉ. सीताकांत महापात्रा और प्रसिद्ध कवि श्री रमाकांत रथ द्वारा …

Read More »

डूंगरपुर में ‘औरतखोर’ का लोकर्पण

डूंगरपुर में आनंद कुरैशी के कहानी संग्रह ‘औरतखोर’ का लोकार्पण हुआ. लोकार्पण प्रसिद्ध लेखक असगर वजाहत ने किया. एक रिपोर्ट- मॉडरेटर ================= डूंगरपुर। बहुत सा श्रेष्ठ साहित्य भी विभिन्न कारणों से पाठकों तक पहुँच नहीं पाता. आनंद कुरेशी जैसे कथाकार को भी व्यापक हिन्दी पाठक वर्ग तक पहुंचाने के लिए …

Read More »

सबसे कम उम्र का जीवनी लेखक है ईशान शर्मा

उन्होंने 16 साल की उम्र में भारत के पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम की जीवनी लिखी है. किताब का नाम है ‘द टीचर आई नेवर मेट’. इसका प्रकाशन इसी साल होने वाला है. कानपुर के रहने वाले ईशान का कहना है कि उन्होंने यह किताब पैसों या प्रचार के लिए …

Read More »

A Life with Wildlife:From Princely India

Dr. M.K. Ranjitsinh is unofficially termed as superhero of India’s conservation community. He has done thorough work and research regarding endangered species. He is credited for establishing many projects including Project Tiger which is one of the world’s most successful conservation projects and Project Snow Leopard. He wrote a book …

Read More »

हवन कुंड में आईआईएमसी

कल इन्डियन एक्सप्रेस में एक छोटी सी खबर ने सबका ध्यान खींचा कि 20 मई को पत्रकारिता के प्रतिष्ठित संस्थान आईआईएमसी में पत्रकारिता के मौजूदा हालात पर दिन भर के सेमिनार का आयोजन किया जायेगा, जिसकी शुरुआत ढाई घंटे के यज्ञ से होगी. पत्रकारिता पर पीएचडी कर चुके, वहां के …

Read More »

‘दिल्लीवाली बस से ही जाना, बिहार वाली बस तुम जैसों के लिए नहीं है…’

सुशील कुमार भारद्वाज बिहार के युवा लेखक हैं. इस बार उन्होंने एक बस यात्रा का संस्मरण लिखा है. बरसों पहले भी बस ट्रेन यात्राओं पर ऐसे ही लिखा जाता था. आज भी वैसे ही. समय के साथ आम आदमी की मुश्किलों का कोई अंत नहीं हुआ है. बहुत रोचक है- …

Read More »

कहानी चर्चा : चोर-सिपाही

अनिमेष जोशी जोधपुर में रहते हैं। वहाँ इन्होंने अपने प्रयासों से लेखकों और गम्भीर पाठकों को एकजुट किया है। हर महीने इनकी मंडली एक चर्चा आयोजित करती है जहाँ ये विभिन्न विषयों पर विमर्श करते हैं। अधिकतर गोष्ठियों में अब भी पुरानी कहानियों पर संवाद होता है उसके बरअक्स इनकी गोष्ठियों …

Read More »

स्वायत्त सांस्कृतिक संस्थाओं के दिन अब लदने वाले हैं

पता नहीं इसके ऊपर कितने लोगों का ध्यान गया. कुछ दिन पहले एक खबर इंडियन एक्सप्रेस में आई थी कि संस्कृति मंत्रालय ने अपने अधीन आने वाली 30 से अधिक संस्थाओं को दी जाने वाली राशि में भारी कटौती करने का फैसला किया है. साहित्य अकादेमी ने इस संबध में …

Read More »

जमशेदपुर में छः साल से चल रहा ‘सृजन संवाद’

यह रपट जमशेदपुर में चलाने वाली साहित्यिक गोष्ठी की है. साहित्य-सत्ता के केंद्र से दूर की गोष्ठियां अधिक रचनात्मक होती हैं. रपट पढ़िए. अंदाजा हो जायेगा- मॉडरेटर ======================== छ: वर्षों से निरंतर चल रही सीताराम डेरा की हमारी गोष्ठी का नामकरण हुआ। डॉ आशुतोष झा के सौजन्य से अब से …

Read More »

हिन्दुस्तान-पाकिस्तान का चेनाब कनेक्शन

आजकल सेल्फ पब्लिशिंग भी अच्छा विकल्प बनता जा रहा है. बाकिर शमीम का यह उपन्यास दिलचस्प लग रहा है. लेखक ने स्वयं प्रकाशित किया है- मॉडरेटर ========= बाकिर शमीम की पुस्तक ‘द चेनाब कनेक्शन’ भारतीय उपमहाद्वीप में मजबूत हो चुकी नफरत की उभरती छाया में, भारतीय लड़के और पाकिस्तानी लड़की …

Read More »