Home / Featured (page 75)

Featured

Featured posts

आज उसी जॉर्ज पंचम का जन्मदिन है जिनको ‘भाग्यविधाता’ कहा गया था!

आज जॉर्ज पंचम की जयंती है. 1911 में वे भारत के सम्राट बने थे और उनके स्वागत में देश भर ने जैसे पलक पांवड़े बिछा दिए थे. कहा जाता है कि ‘जन गण मन’ की रचना रवीन्द्रनाथ टैगोर ने उनके ही स्वागत में की थी. यह जरूर विवाद का विषय …

Read More »

फ़िल्म हो या जीवन, राज कपूर हर चीज़ ग्रैंड चाहते थे

हिन्दी फ़िल्म इंडस्ट्री के सबसे पहले शोमैन राज कपूर की आज पुण्यतिथि है. उनकी फ़िल्मों का जलवा ऐसा है कि आज भी उनके काम और स्टाइल की मिसाल दी जाती है. उनके पुत्र ऋषि कपूर की इसी साल प्रकाशित आत्मकथा खुल्लम खुल्ला में उन्होंने एक अध्याय अपने पिता को समर्पित …

Read More »

शमिया ऐतुन की कहानी ‘गर्मी की छुट्टी’

गर्मी की छुट्टियाँ शुरू हो चुकी है. शामिया ऐतुन की कहानी पढ़िए जिसका अनुवाद विजय शर्मा जी ने किया है-मॉडरेटर ========================================================= शामिया ऐतुन वह अपनी पुरानी गली में पड़ौसी बच्चों के साथ एक महत्वपूर्ण सदस्य के रूप में खेलती थी। उसे इतना गर्व था कि वह यह बात अपने स्कूल …

Read More »

ख्वाजा अहमद अब्बास की 30 वीं पुण्यतिथि पर तौहीद का लेख

सोद्देश्य सिनेमा को समर्पित फिल्म लेखक, निर्देशक ख्वाजा अहमद अब्बास की आज पुण्यतिथि है. उनकी लेखन-कला, उनकी सिनेमा कला को याद करते हुए एक बढ़िया लेख लिखा है सैयद एस. तौहीद ने- जानकी पुल. ======================   उन दिनों वी शांताराम की एक द्विभाषी फिल्म ‘दुनिया ना माने’ बनी थी। बांबे क्रानिकल …

Read More »

दक्षिण कोरियन फिल्म ‘द बो’ और श्री का लेख

श्री(पूनम अरोड़ा) दक्षिण कोरियाई फिल्म निर्देशक किम की डुक की फिल्मों पर पहले भी लिख चुकी हैं. इस बार उनका यह लेख the bow पर है- मॉडरेटर ==================== मुक्त होने और मुक्त करने का सम्मोहन है हथेली पर पिघले मोम की तरह ! अमूर्त सत्य को मूर्त सम्मोहन में बदल …

Read More »

स्त्री शिक्षा के माइलस्टोन संस्थान और उनका इतिहास

सुरेश कुमार ने एक रोचक लेख लिखा है कुछ प्रमुख स्त्री शिक्षा संस्थानों पर- मॉडरेटर ========================================= नवजागरण काल में स्त्री शिक्षा का प्रश्न प्रमुख बनकर उभरा था। हिन्दी के विचारक और समाज सुधारक यह  सोच रहे थे कि स्त्रियों को पढ़ने के लिए कौन से  स्कूलों में भेजा जाय। अधिकार …

Read More »

गौतम राजऋषि की नई नई ग़ज़लें

इस साल ग़ज़ल की जिस किताब की खूब चर्चा रही वह हिन्द युग्म से आई ‘पाल ले इक रोग नादां’ है. उसी शायर गौतम राजऋषि की नई नई गजलों को पढने की उपयुक्त शाम है. दिन में बारिश हुई है. शाम के बादल छाये हुए हैं- मॉडरेटर ======================================================= 1.   …

Read More »

टाईट एक्जाम बनाम लाईट एक्जाम से आगे की परीक्षा

बिहार में इंटरमीडिएट का रिजल्ट पिछले दो साल से रोमांचक कथा की तरह बना दिया जाता है. पिछले साल टॉपर लड़की का इंटरव्यू दिखाकर परीक्षा के नतीजों का ‘असली सच’ दिखाया गया. इस बार महज एक तिहाई बच्चों के पास होने का रोना रोकर. यह सही है कि बिहार में …

Read More »

सबसे कम उम्र का जीवनी लेखक है ईशान शर्मा

उन्होंने 16 साल की उम्र में भारत के पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम की जीवनी लिखी है. किताब का नाम है ‘द टीचर आई नेवर मेट’. इसका प्रकाशन इसी साल होने वाला है. कानपुर के रहने वाले ईशान का कहना है कि उन्होंने यह किताब पैसों या प्रचार के लिए …

Read More »

अपूर्णता के सबसे पूर्ण लेखक के बारे में कुछ अधूरी पंक्तियाँ

लेखक ब्रजेश्वर मदान की मृत्यु की खबर आने के बाद ‘कथादेश’ पत्रिका के जून अंक में उनके ऊपर कई सामग्री दी गई, उनको याद किया गया है. इसी अंक में मैंने भी ब्रजेश्वर मदान साहब को याद करते हुए कुछ लिखा है- प्रभात रंजन  =================================================== मेरी जानकारी में ब्रजेश्वर मदान …

Read More »