News

कविताएं

हिंदी के पाठकों को चाहते-न चाहते बहुत सारी कविताएँ पढनी पड़ती हैं. कुछ दिल में उतर जाती हैं, कुछ दिमाग को झकझोर देती हैं....

आज प्रस्तुत हैं रविदत्त मोहता की कविताएँ - संपादक ========================================================= यादें कभी अस्त नहीं होती मैं यादों के आसमान का पक्षी हूँ सदियां हो गयीं मैं सो नहीं पाया यादों के...

जुड़े रहें

4,715FansLike
84Subscribers+1
82FollowersFollow
ad

शायरी

पिछले 2-3 बरसों में एक ग़ज़ल बहुत सुनाई पड़ी। ‘वो हम-सफ़र था मगर उस से हम-नवाई न थी’ ...लेकिन कम लोगों को मालूम है...

नाटक

यूँ तो हबीब तनवीर को याद करने के लिए दिन विशेष की आवश्यकता नहीं है क्योंकि जो धरोहर वह छोड़ कर गए हैं उसे...

कथा-कहानी

गौतम राजऋषि सेना में कर्नल हैं. 'पाल ले इक रोग नादां' जैसे चर्चित ग़ज़ल संग्रह के शायर हैं. यह कहानी कश्मीर की पृष्ठभूमि में...

प्रसिद्ध लेखिका मृणाल पांडे इन दिनों किस्सों की पुरानी लुप्त हुई परम्परा के सूत्रों को जोड़ रही हैं. यह दूसरी कड़ी है. पहली कड़ी...

सईद अयूब बहुत कल्पनाशील तरीके से पिछले कई सालों से साहित्यिक आयोजन करते रहे हैं. करीब एक महीने पहले जब उन्होंने बताया कि सीपी...

पुस्तक अंश

पिछले दिनों वाणी प्रकाशन से एक किताब आई 'पतनशील पत्नियों के नोट्स'. नीलिमा चौहान की इस किताब ने जैसे हिंदी साहित्य की तथाकथित मर्यादा...

कल मैंने फेसबुक पर भूतों से अपने डर की बात लिखी थी. उसमें मैंने रस्किन बांड का जिक्र किया था. मसूरी में रहने वाले...

निदा फाजली ने कुछ शायरों के ऊपर बहुत रोचक ढंग से लिखा है. यहाँ उनका लेख शायर-गीतकार शकील बदायूंनी पर. कुछ साल पहले वाणी प्रकाशन...

नज़्म

मज़दूर दिवस पर पेश हैं कुछ नज़्में - संंपादक ======================================================== मज़दूरों का गीत - असरार-उल-हक़ मजाज़  मेहनत से ये माना चूर हैं हम आराम से कोसों दूर हैं हम पर...