Recent Posts

हेमिंग्वे की स्मृति को समर्पित कहानी- हिडेन फैक्ट

मेरे पहले कहानी संग्रह ‘जानकी पुल’ में एक कहानी है ‘हिडेन फैक्ट’, जो महान लेखक हेमिंग्वे की स्मृति को समर्पित है. हेमिंग्वे के बारे में आलोचकों का कहना था कि उनकी कहानियों में ‘हिडेन फैक्ट’ की तकनीक है यानी बहुत लाउड होकर नहीं बल्कि संकेतों, इंगितों के माध्यम से अपनी …

Read More »

महाभारत जैसे अंधेरी रात में तारों भरा आकाश

पेरु के राजनयिक कार्लोस इरिगोवन का नाम पिछले दिनों सुर्खियों में था। खबर थी कि उन्होंने कांची के चंद्रशेखरेन्द्र विश्वविद्यालय में शंकराचार्य के सामाजिक-राजनीतिक दर्शन पर शोध करने के लिए अप्लाई किया है। भेंटवार्ता के दौरान जब उनसे इसके बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि ऐसा लग रहा है …

Read More »

शुजा खावर और शारिक कैफ़ी की गज़लें

शुजा खावर आईपीएस अफसर थे लेकिन तब भी अपनी शायरी के लिए ज्यादा जाने जाते थे. दिल्ली में डीसीपी की नौकरी इसलिए छोड़ दी क्योंकि खुद को पुलिसिया अफसरी में मिसफिट पा रहे थे. दिल्ली के इस शायर की शायरी ही नही मिजाज़ भी सूफियाना है. काफी अरसे से बीमार …

Read More »