Recent Posts

पाकिस्तान समुंदर-ए-कुफ्र में एक रोशन जज़ीरा है!

पाकिस्तान के लेखक हसीब आसिफ के इस लेख की तरफ ध्यान दिलवाया मित्र कवि गिरिराज किराडू ने. जिन्होंने इसे http://hillele.org पर पढ़ा. और वहां यह काफिला से साभार लगा है. सबसे साभार अब आप इसे यहां पढ़िए. क्या व्यंग्य है?- जानकी पुल. =========================================  यहां के लोग कुदरत की तमाम नेअमतों …

Read More »

लेखक का एकांत मृत्यु का एकांत होता है

उदय प्रकाश का उपन्यास ‘पीली छतरी वाली लड़की’ पुराना है, लेकिन सुशीला पुरी ने उसके ऊपर बेहद आत्मीय ढंग से, नए कोण से लिखा है. सोचा साझा किया जाए- जानकी पुल. ==================================================  उदय प्रकाश जैसे विरल,विराट,विपुल,वैविध्य वाले रचनाकार पर कुछ लिख पाने की मेरी सामर्थ्य नहीं। मैं एक अदना सी …

Read More »

पत्रकारिता की शिक्षा गैर-पत्रकार कैसे देते हैं?

कल ‘जनसत्ता’ संपादक ओम थानवी ने प्रेस परिषद के अध्यक्ष न्यायमूर्ति मार्कण्डेय काटजू के इस कथन के बहाने कि मीडिया में आने के लिए न्यूनतम योग्यता तय होनी चाहिए, मीडिया शिक्षा पर वाजिब सवाल उठाये हैं. ओम थानवी का यह लेख अपने अकाट्य तर्कों के साथ बेहब वाजिब सवाल उठाता है …

Read More »