Recent Posts

तोताबाला ठाकोर के नाम एक खुला ख़त

हिंदीनेक्स्ट पर तोताबाला ठाकोर की कविताओं को पढ़कर उसके नाम एक खुला ख़त लिखा है ‘नीना आंटी’ की लेखिका अनुकृति उपाध्याय ने। आप भी पढ़ सकते हैं- तोतबाला ठाकोर के आत्मकथ्य वाली कविताएँ पढ़ीं । कविताओं का मुहावरा और शैली मौलिक है, कविता में कथा तत्त्व के कारण रोचकता भी …

Read More »

साहिर की जन्मशती पर गुलज़ार का लेख

आज उर्दू के बड़े शायर और गीतकार साहिर लुधियानवी की जन्मशती है। आज टाइम्स आफ इंडिया में गुलज़ार ने उनके बारे में लिखा है। मोहुआ दास के साथ बातचीत पर आधारित इस लेख का हिंदी अनुवाद साभार प्रस्तुत है। अनुवाद मेरा है- प्रभात रंजन ======================= किसी और कवि ने जुदाई …

Read More »

लोकगीतों का देहनोचवा दौर और लोकसंगीत की महिलाएं

आज महिला दिवस है। इस अवसर पर पढ़िए प्रसिद्ध लोक गायिका चंदन तिवारी का लिखा यह लेख- ============== लोक. यह शब्द सामने आते ही जीवन का एक विराट पहलू सामने होता है. सृष्टि,प्रकृति सब समाहित हो जाता है इस एक शब्द में. सृष्टि और प्रकृति के बाद लोक के तत्वों …

Read More »